दौसा में विवाद के चलते परेशानी में बीजेपी प्रत्याशी जसकौर मीणा

जयपुर। राजस्थान में दौसा संसदीय क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जसकौर मीणा को उम्मीदवार बनाने की घोषणा कर दी, लेकिन नेताओं में विवाद के चलते इस सीट पर भाजपा को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

राज्य की 25 सीटों में से 24 सीटों पर घोषणा करने के बाद दौसा ही ऐसी सीट बची थी जहां उम्मीदवार तय करना मुश्किल हो रहा था। दरअसल यहां उम्मीदवारी की दौड़ में डॉ किरोड़ी लाल मीणा, ओमप्रकाश हुगला और जसकौर मीणा में उम्मीदवारी को लेकर कड़ा मुकाबला था, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अहम भूमिका के चलते जसकौर को ही टिकट मिला।

इस क्षेत्र में डॉ किरोड़ीलाल मीणा का काफी प्रभाव है, लिहाजा उन्होंने जसकौर का साथ नहीं दिया तो भाजपा मुश्किल में आ सकती है। हालांकि केंद्रीय नेताओं ने डॉ मीणा को जसकौर को समर्थन करने के लिए राजी कर लिया है, लेकिन पुरानी अदावत के चलते शायद ही डॉ मीणा खुले मन से उनकी मदद कर सकें। दरअसल वर्ष 2008 में सवाई माधोपुर संसदीय क्षेत्र से जसकौर डॉ किरोड़ी का टिकट कटवाकर उम्मीदवार बनी थी। बाद में वह केंद्रीय में मंत्री बनी।

उधर, दौसा सीट पर कांग्रेस ने भी महिला उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारा है, जिससे इस सीट पर दोनों महिला उम्मीदवारों के बीच मुकाबला होगा। पिछली बार पूर्व पुलिस महानिदेशक हरीशा मीणा ने भाजपा के टिकट पर दौसा से चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी, लेकिन विधानसभा चुनाव के पहले वह कांग्रेस में शामिल हो गए। वर्तमान में वह टोंक जिले के देवली उनियारा से विधायक हैं। उसके बाद पार्टी को उम्मीदवार तय करने में मुश्किल हो गई।