भविष्य निधि पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाने के बारे में जल्द होगा फैसला: अनंत कुमार

भविष्य निधि पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाने के बारे में जल्द होगा फैसला: अनंत कुमार
भविष्य निधि पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाने के बारे में जल्द होगा फैसला: अनंत कुमार

नयी दिल्ली । सरकार ने आज कहा कि भविष्य निधि पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाने के लिए गठित समिति से जल्द से जल्द सिफारिश मांगी जाएगी ताकि इस बारे में शीघ्र ही उचित फैसला लिया जा सके।

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने लोकसभा में शून्यकाल में रेवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) के एन के प्रेमचंद्रन के इस मुद्दे को उठाये जाने पर कहा किप्रेमचंद्रन ने एक न्यायोचित मांग उठायी है। इससे लाखों कर्मचारियों को लाभ होगा।

कुमार कहा कि सरकार पहले ही न्यूनतम पेंशन बढ़ाकर एक हजार रुपए प्रतिमाह कर चुकी है। पेंशन में और सुधार करने के लिए सरकार ने एक समिति बनायी है। उस समिति की अभी तक रिपोर्ट नहीं आयी है। वह श्रम मंत्री को सदस्य की भावना से अवगत करा देंगे ताकि समिति जल्द से जल्द सिफारिश दे और पेंशन की न्यूनतम राशि बढ़ाए जाने के बारे में उचित फैसला शीघ्र लिया जा सके।

इससे पहले श्री प्रेमचंद्रन ने कहा कि उन्होंने भविष्य निधि पेंशन को लेकर एक निजी विधेयक सदन में पेश किया था जिस पर सभी पक्षों के 28 सदस्यों ने सवा नौ घंटे से अधिक समय तक चर्चा में सहमति व्यक्त की थी। इसमें पेंशन की न्यूनतम राशि 3000 रुपए प्रतिमाह करने की बात कही गयी थी।

बाद में सरकार के आश्वासन पर उन्होंने निजी संकल्प वापस ले लिया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने अब तक इस बारे में कोई कदम नहीं उठाया है। इससे पहले कांग्रेस के दीपेन्द्र हुड्डा ने अर्द्धसैन्य बलों में नयी पेंशन स्कीम की जगह पुरानी पेंशन स्कीम लाने की वकालत की।