राहुल गांधी की सम्पत्ति बेतहाशा बढ़ने पर भाजपा ने उठाए सवाल

Will keep a telescopic view on Rahul Gandhi’s income in election nomination : BJP

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि घोटालों, संदिग्ध सौदों और हथियार कारोबारियों से फायदे उठाकर उन्होंने अपनी सम्पत्ति में इजाफा किया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में सवाल उठाया कि 2004 में राहुल गांधी ने अपने नामांकन पत्र में 55 लाख रुपए की संपत्ति बताई थी, जो 2014 में बढ़कर नौ करोड़ रुपए कैसे हो गई? आखिर यह बड़ा इजाफा कैसे हो गया, जबकि उनकी कमाई का एकमात्र स्रोत सांसदों को मिलने वाले वेतन और भत्ते ही है। वह कोई डॉक्टर या वकील जैसे पेशेवर भी नहीं हैं।

उन्होंने दिल्ली के महरौली स्थित एक फार्म हाउस को लेकर दावा करते हुए कहा कि यह लगभग एक एकड़ का है। इसके मालिक हैं, राहुल और प्रियंका गांधी। इसका नाम इंदिरा फार्म हाउस है। इसे 2013 में फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी इंडिया लिमिटेड नामक कंपनी को किराये पर दिया गया था। इसे प्रति महीने सात लाख रुपए में किराये पर दिया गया था। पहली बार इसके लिए 40 लाख रुपए बतौर अग्रिम लिए गए थे, यह राशि ब्याजरहित थी।

पात्रा ने सवाल किए कि ऐसा कैसे हो सकता है कि अग्रिम राशि पर कोई ब्याज न ले। इतना ही नहीं, फार्म हाउस की कीमत गांधी ने अपने चुनावी हलफनामे में नौ लाख रुपए बताई थी, लेकिन इससे करोड़ों कैसे कमाए गए? भाजपा प्रवक्ता ने दावा किया कि इसी फार्म हाउस से 2007-08 से 2012-13 तक तीन करोड़ रुपए कमाए गए, लेकिन वहां कोई रहता नहीं था। उन्होंने गुरुग्राम में एक प्रॉपर्टी डील को लेकर भी गंभीर आरोप लगाए।