चचेरे देवर ने लूटनी चाही अस्मत, पति ने फोन पर कहा तलाक तलाक तलाक

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में निकाह के पांच साल बाद भी दहेज के लिए शौहर समेत ससुराली महिला को प्रताड़ित करते थे। चचेरे देवर ने उससे दुष्कर्म का प्रयास किया। शौहर से शिकायत की तो उसने फोन पर तीन तलाक दे दिया। डीआइजी से शिकायत पर ससुराल वालों पर मुकदमा दर्ज हुआ है।

पुलिस ने सोमवार को यहां कहा कि शहर के किला निवासी महिला ने बताया कि उनका निकाह नौ मई 2014 को स्वालेनगर निवासी युवक तस्लीम से हुआ था। निकाह के बाद दहेज की मांग को लेकर ससुराली अक्सर प्रताड़ित करते रहे थे। आरोप है कि अक्सर छेड़खानी करने वाले चचेरे देवर अल्ताफ 20 ने दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध किया तो गले पर चाकू रखकर जान से मारने की धमकी दी। शोर शराबा किया तो आरोपित वहां से भाग निकला।

पुलिस ने कहा कि शिकायत के अनुसार छह फरवरी को उसने शौहर से देवर की शिकायत की तो उन्होंने उसे जमकर पीटा। बच्चे समेत घर से निकाल दिया। अगले दिन सात फरवरी को शौहर ने फोन करके तीन तलाक कह दिया।

पीड़िता ने डीआइजी राजेश पांडेय के सामने पेश होकर शिकायत की तो उनके आदेश पर किला थाने में शौहर तस्लीम, देवर अल्ताफ, सास रेशमा और ननद हबीबन खातून 17 समेत सात पर मुकदमा दर्ज हुआ है। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।