भीलवाड़ा जिले के हमीरगढ़ कस्बे में एक महिला की हत्या

भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के हमीरगढ़ कस्बे में एक बुजुर्ग महिला की हत्या एवं उसके पति को गंभीर रुप घायल कर देने का मामला सामने आया हैं।

पुलिस के अनुसार हमीरगढ़ में होली का चौक के पास गली में सत्तर वर्षीय नाथूलाल सोमानी, पत्नी प्रेम देवी एवं मानसिक विक्षिप्त पौते के साथ रह रहे थे। सुबह प्रेम देवी का शव बाथरुम में पाया गया जबकि नाथूलाल घायल होकर अचेतावस्था में मिले। दंपती के सुबह घर के बाहर नहीं आने पर एक महिला ने उन्हें आवाज दी, लेकिन कोई जवाब नहीं मिलने पर अंदर जाकर देखने पर घटना का पता चला।

इस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया और घायल नाथूलाल को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने बताया कि मामले को लेकर जांच की जा रही है। घायल नाथूलाल के होश में आने के बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी।

रोडवेज बस की चपेट में आने से एक युवक की मौत दो घायल

भीलवाड़ा शहर से कुछ दूर चित्तौड़गढ हाइवे पर रोडवेज बस की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए। पुर थाने के सहायक उपनिरीक्षक भंवर सिंह ने आज बताया कि सोमवार रात समेलिया फाटक के नजदीक यह हादसा उस समय हुआ जब बड़ा महुआ हाल रामनगर मंडपिया निवासी सूरज एक अन्य युवक के साथ मंडपिया जा रहा था कि समेलिया फाटक के पास अपने परिचित किशन के पास रुक गए और आपस में बातचीत कर रहे थे। तभी रोडवेज बस ने इन युवकों को अपनी चपेट में ले लिया।

हादसे में सूरज सिंह की मौके पर मौत हो गई जबकि किशन सिंह एवं नरेश बैरवा घायल हो गये, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

भीलवाड़ा शहर में एक व्यवसायी ने की आत्महत्या

भीलवाड़ा शहर के बापूनगर में एक रेडीमेड वस्त्र व्यवसायी के आत्महत्या कर लेने का मामला सामने आया हैं। प्रताप नगर पुलिस ने बताया कि मंगलवार को बापूनगर में एक युवक के फांसी लगाने की सूचना मिली। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची जहां एक मकान में जालोर जिले के धानसा गांव निवासी अमर सिंह (40) गले में स्टोल का फंदा लगाकर पंखे से झूलते मिले।

मौके पर सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें एक व्यक्ति पर उन्हें उलझाने का हवाला दिया गया है। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि अमर सिंह की पत्नी चित्तौडग़ढ़ जिले के नेगडिय़ा गांव स्थित अपने पीहर गई हुइ्र थी और वह सुबह बेटी को स्कूल जाने के लिए टेंपो में बैठाकर घर लौटे। इसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया। पुलिस ने शव को फंदे से उतरवा कर जिला अस्पताल की मोर्चरी भिजवा दिया। पुलिस ने बताया कि अमर सिंह की कुंभा सर्किल पर नेहा कलेक्शन के नाम से रेडीमेड कपड़ों की दुकान थी।