उपनिदेशक सहित चार आरोपियों को पुलिस हिरासत में भेजा

अजमेर। राजस्थान में अजमेर स्थित भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की अदालत ने आंगनबाड़ी पोषाहार में भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार नागौर की महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक ऊषा रानी सहित चार लोगों को बुधवार को एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया।

ब्यूरो ने इस मामले में गिरफ्तार ऊषा रानी तथा ठेकेदार हरि सिंह, किशोर बेंडा एवं योगेश दायमा को अदालत में पेश किया गया जहां उन्हें एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

उल्लेखनीय है कि महिला एवं बाल विकास विभाग में पोषाहार वितरण में भ्रष्टाचार की शिकायत के बाद ब्यूरो द्वारा की गई कार्रवाई में इन आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था।

इनमें नागौर जिले में डेगाना क्षेत्र में ठेकेदार हरि सिंह के घर 50 लाख रुपए नकद बरामद किए गये थे। इसी तरह अन्य आरोपियों से भी 75 हजार रुपए बरामद हुए थे। बच्चों के पोषाहार से जुड़े इस भ्रष्टाचार के मामले में ग्यारह स्थानों पर एक साथ कार्रवाई की गई थी। ब्यूरो को उम्मीद है कि विभाग में लंबे समय से चल रही इस धांधली में नए खुलासे हो सकते है।