विश्व कप टीम में 15 साल की शेफाली और 16 साल की रिचा

मुंबई। स्टार बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर ऑस्ट्रेलिया में 21 फरवरी से आठ मार्च तक होने वाले महिला टी-20 विश्व कप में भारतीय टीम की कप्तानी संभालेंगी जबकि टीम में 15 साल की शेफाली वर्मा और 16 साल की रिचा घोष सहित कई युवा खिलाड़ियों को शामिल किया गया है।

भारतीय टीम 2018 में हुए पिछले विश्व कप में सेमीफाइनल तक पहुंची थी और इस बार उसका लक्ष्य इससे आगे तक जाना होगा। टीम में कई युवा खिलाड़ियों को शामिल किया गया है जिसमें 15 साल की शेफाली को शामिल किया गया है।

शेफाली टीम में 23 वर्षीय उपकप्तान स्मृति मंधाना के साथ पहली पसंद ओपनर हैं। हरियाणा की 15 साल की शेफाली ने अपने करियर में नौ टी-20 मैचों में दो अर्धशतकों की मदद से 222 रन बनाये हैं। शीर्ष क्रम की एक अन्य खिलाड़ी जेमिमा रोड्रिग्स भी मात्र 19 साल की हैं। 16 साल की नवोदित रिचा घोष को भी टीम में जगह मिली है।

भारतीय टीम में चार स्पिनरों को शामिल किया गया है जिसकी अगुवाई लेग स्पिनर पूनम यादव करेंगी। 28 वर्षीय ने पिछले दो वर्षों में 51 विकेट लिए हैं और उन्हें 2018-19 के लिए बीसीसीआई ने सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर घोषित किया है। हालांकि टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलिया में हो रहा है लेकिन चयनकर्ताओं ने टीम में तीन तेज गेंदबाज शिखा पांडेय, पूजा वस्त्रकर और अरुंधति रेड्डी को शामिल किया है।

टीम से आलराउंडर अनुजा पाटिल और तेज गेंदबाज मानसी जोशी को बाहर किया गया है जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड को टीम में वापस लिया गया है। राजेश्वरी को नवम्बर में वेस्ट इंडीज दौरे में टीम में नहीं रखा गया है। हाल की चैलेंजर सीरीज में राजेश्वरी ने 5.15 के इकोनॉमी रेट से आठ विकेट लिए थे जबकि पाटिल ने 4.75 के इकोनॉमी रेट से तीन विकेट लिए थे।

हरमनप्रीत ने टीम के चुने जाने के बाद कहा कि यदि आप हमारी टीम की बात करें तो हमारी टीम की ताकत स्पिन गेंदबाजी है। हमें बस यही देखना है कि हम इनका इस्तेमाल कैसे करेंगे। मुझे लगता है कि इन गेंदबाजों ने हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है और जब भी हमें विकेट की जरूरत होती हैं इन्होंने विकेट दिलाये हैं। हमारी ताकत स्पिन है इसलिए हम स्पिन पर टिके हुए हैं। हमारा दृष्टिकोण सकारात्मक है और हमें उम्मीद है कि वे एक बार फिर अच्छा प्रदर्शन करेंगी।

पिछले एक साल में टीम से अंदर-बाहर होती रही वेदा कृष्णामूर्ति ने हाल के अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत टीम में जगह बनाई है। वह भारत ए की ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ 0-3 की निराशाजनक हार में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रही थीं। उससे पहले एकदिवसीय मैचों में वेदा ने मैच विजयी शतक बनाया था। उन्होंने हाल में 29 गेंदों पर 47 रन बनाकर अपनी टीम को चैलेंजर सीरीज के फाइनल में पहुंचाया था।

चैलेंजर सीरीज के फाइनल में पहुंचने वाली भारत बी टीम की सदस्य रिचा को टीम में शामिल किया जाना इस बात का संकेत है कि चयनकर्ता युवा खिलाड़ियों को प्राथमिकता दे रहे हैं। 16 साल की रिचा ने मंधाना की कप्तानी में खेलते हुए भारत सी के खिलाफ कम स्कोर वाले मैच में मैच विजयी 25 रन बनाए थे और इसी टीम के खिलाफ 149 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 25 गेंदों में 36 रन बनाए थे। रिचा मध्य क्रम में काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं। उन्होंने पटना में चार टीमों के टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया था।

भारत ने नवम्बर 2018 में पिछले टी-20 विश्व कप के बाद से अपने 15 मैचों में आठ मैच जीते हैं। इसमें दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज में सीरीज जीत शामिल हैं। लेकिन विश्व कप के प्रबल दावेदारों ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को देखा जाए जिन्होंने क्रमशः नौ में से आठ और 13 में से 11 मैच जीते हैं। तीनों टीमें विश्व कप की तैयारी के लिए एक-दूसरे से खेलेंगी।

भारत को विश्व कप में हरमनप्रीत, मंधाना और कृष्णामूर्ति के बिग बैश लीग में खेलने के अनुभव का भी फायदा भी मिलेगा। आईसीसी टी-20 महिला वर्ल्ड कप के ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया (गत चैंपियन और 4 बार की विजेता- 2010, 2012, 2014, 2018), न्यूजीलैंड, भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका शामिल हैं जबकि ग्रुप बी में इंग्लैंड (2009 की चैंपियन), वेस्टइंडीज (2016 चैंपियन), दक्षिण अफ्रीका, थाईलैंड और पाकिस्तान शामिल हैं।

विश्व कप के लिए भारतीय टीम इस प्रकार है

हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना (उपकप्तान), शेफाली वर्मा, जेमिमा रोड्रिग्ज, हरलीन देओल, दीप्ति शर्मा, वेदा कृष्णामूर्ति, रिचा घोष, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), पूनम यादव, राधा यादव, राजेश्वरी गायकवाड, शिखा पांडे, पूजा वस्त्रकर, अरुंधति रेड्डी।