काम का बोझ थोड़ा परेशान करने लगा है : विराट कोहली

Workload has started to take its toll : Virat Kohli
Workload has started to take its toll : Virat Kohli

मुंबई। भारतीय क्रिकेट में तीनों प्रारूप के कप्तान विराट कोहली ने माना है कि वह लगातार क्रिकेट सीरीज और दौरों के बोझ को महसूस कर रहे हैं और फिलहाल काम से मिले संक्षिप्त विश्राम का भरपूर मजा ले रहे हैं।

विराट ने यहां एक प्रमोशनल कार्यक्रम में कहा कि वह इस समय संक्षिप्त विश्राम का मजा ले रहे हैं जो उनके लगातार काम करने के बोझ से मानसिक और शारीरिक तौर पर उबरने के लिए जरूरी है। भारतीय बल्लेबाज फिलहाल श्रीलंका में चल रही त्रिकोणीय ट्वंटी 20 निदहास ट्राॅफी का हिस्सा नहीं हैं और उनकी जगह रोहित शर्मा टीम की कप्तानी संभाल रहे हैं।

कप्तान ने कहा कि शारीरिक रूप से मुझे कुछ दिक्कतें महसूस हुई हैं और मैं उनसे उबरने का प्रयास कर रहा हूं। मुझे अब काम का बोझ थोड़ा परेशान करने लगा है। मुझे इसके लिए अब काफी सतर्क रहने की जरूरत है कि कैसे मैं अपने शरीर, क्रिकेट और दिमाग को संतुलित और सहज रखते हुए आगे बढूं।

फिलहाल क्रिकेट से बाहर विश्राम कर रहे विराट ने कहा कि यह समय मेरे लिए बहुत अहम है। मैं इसका पूरा मजा ले रहा हूं। मुझे इस आराम की बहुत जरूरत थी। मैं इस समय का पूरा आनंद ले रहा हूं।

दक्षिण अफ्रीका के करीब दो महीने लंबे दौरे के बाद विराट को मौजूदा सीमित ओवर सीरीज़ से बाहर आराम दिया गया है। उनके अलावा महेंद्र सिंह धोनी, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या और कुलदीप यादव को भी निदहास ट्राफी से बाहर रखा गया है।

विराट और टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ियों ने पहले भी लगातार सीरीज कराने और काम का अतिरिक्त बोझ डालने को लेकर भारतीय बोर्ड से नाराज़गी व्यक्त की थी। दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले श्रीलंका सीरीज़ के बीच में खिलाड़ियों को चार दिन से भी कम समय का आराम मिला था जिसे लेकर उन्होंने नाराजगी जताई थी। विराट ने उस समय कहा था कि वह रोबोट नहीं है और उन्हें भी आराम की जरूरत है।

मौजूदा निदहास ट्राफी के बाद अप्रैल से मई तक भारतीय क्रिकेटरों को इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना है। इसके बाद जून में वह अफगानिस्तान के पदार्पण टेस्ट के लिए मेज़बानी करेंगे। टीम इंडिया फिर जुलाई में इंग्लैंड दौरे में तीन ट्वंटी 20, तीन वनडे और पांच टेस्टों की सीरीज खेलेगी।