मैरीकॉम और मनीष कौशिक को मिला आसान ड्रॉ

World champion MC Mary Kom and Manish Kaushik got easy draw
World champion MC Mary Kom and Manish Kaushik got easy draw

नई दिल्ली। छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम और विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक को स्पेन के कास्टेलोन में बॉक्सम इंटरनेशल टूर्नामेंट में मंगलवार को अपने शुरुआती मुकाबलों में आसान ड्रॉ मिला।

मैरीकॉम आसान ड्राॅ के बाद बुधवार को सीधा क्वार्टर फाइनल मुकाबले से अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। 51 किग्रा के फ्लाइटवेट वर्ग के अपने पहले मुकाबले में वह इटली की गियोर्डाना सोरेनटिनो से भिड़ेंगी,मैरीकॉम एक साल के बाद रिंग में वापसी कर रही हैं जबकि कौशिक मंगलवार रात को 63 किग्रा लाइट वेल्टरवेट के अपने पहले दौर के मुकाबले में स्पेन के अपने प्रतिद्वंद्वदी रादौने अम्मारी से भिड़ेंगे। दोनों भारतीय मुक्केबाज चोटिल होने के कारण खेल से बाहर थे और पिछले साल मार्च में आयोजित एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर के बाद से कोई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट नहीं खेल पाए थे।

कौशिक के अलावा, राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) मंगलवार देर रात अपने शुरुआती दौर के मुकाबले में स्पेन के अपने प्रतिद्वंद्वी जुआन मैनुअल टॉरेस से भिड़ेंगे। मैरीकॉम सहित अन्य 12 भारतीय मुक्केबाज (छह पुरुष और छह महिलाएं) अंतिम-8 में अपने अभियान की शुरुआत करेंगे। टूर्नामेंट में भारत की 14 सदस्यीय टीम भाग ले रही है, जिनमें नौ भारतीय मुक्केबाज ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं। मुक्केबाजी के लिहाज से ताकतवर देशों रूस, अमेरिका, इटली, कजाकिस्तान और स्पेन समेत 17 देशों के मुक्केबाजों की मौजूदगी में बॉक्सम इंटरनेशल टूर्नामेंट का यह 35वां संस्करण एक मजबूत प्रतियोगिता का गवाह बनेगा।

भारत की पुरुष वर्ग टीम में ओलंपिक (91 किग्रा से अधिक) के लिए क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता अमित पंघल (52 किग्रा), कॉमनवेल्थ गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा) और सतीश कुमार शामिल हैं। वहीं महिला वर्ग टीम में मैरीकॉम (51 किग्रा), जास्मिन (57 किग्रा), मनीषा मौन (57 किग्रा), विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता पंजाब की सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), असम की लवलिना बोर्गोहेन (69 किग्रा) और 2019 एशियाई चैंपियन हरियाणा की पूजा रानी (75 किग्रा) शामिल हैं। जास्मिन पहली बार सीनियर अंतर्राष्ट्रीय श्रेणी में मुक्केबाजी कर रही हैं।