अयोध्या में योगी ने किए रामलला के दर्शन, खाया दलित के घर भोजन

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां रामलला के दर्शन के अलावा हनुमानगढ़ी में मथा टेका और एक दलित परिवार के घर जाकर उनके साथ भोजन किया।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार योगी आदित्यनाथ बुधवार को यहां अशर्फी भवन चौराहा के निकट प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी सुतहटी मलिन बस्ती निवासी महावीर के आवास पर गए और उनके लोगों से मिले और परिवार लोगों के साथ भोजन किया।

योगी ने परिवार वालों से पूछा कि प्रधानमंत्री आवास मिलने में किसी तरह का पैसा तो देना नहीं पड़ा तब महावीर के परिवार ने बताया कि बहुत आसानी से उन्हें आवास मिल गया जिसमें हम रह रहे हैं। उन्होंने महावीर से पूछा कि क्या और अन्य सरकारी योजनाओं का भी लाभ आपको मिल रहा है तो, उन्होंने कहा मिल रहा है।

सूत्रों के अनुसार योगी ने यहां श्रीरामजन्मभूमि के अध्यक्ष एवं मणिरामदास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास से भी मुलाकात की। इस अवसर पर श्रीरामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष मणिराम दास छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, अयोध्या विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, महंत धर्मदास, दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, विश्व हिन्दू परिषद के प्रवक्ता शरद शर्मा सहित अन्य संत मौजूद थे।

मुख्यमंत्री दिगम्बर अखाड़ा गए और वहां महंत सुरेश दास के साथ भोजन भी किया। सुग्रीव किला के महंत स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य के देहान्त के बाद योगी उनके किला पर भी गए।

योगी ने यहां प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में मत्था टेकने के बाद विवादित श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन किए और बाद में नए घाट पर जाकर सरयू आरती भी की। उसके बाद देवी पाटन के लिये रवाना हो गए।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव प्रचार में विवादित भाषण देने के आरोप में योगी पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का प्रतिबंध लगा रखा है। इस दौरान वह चुनाव प्रचार तो नहीं कर रहे हैं लेकिन लगातार जनता को अपना संदेश दे रहे हैं।