यॉर्कशायर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की मेज़बानी से निलंबित

लंदन। अज़ीम रफ़ीक नस्लवाद जांच के उलझाव पर चर्चा करने के लिए इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की बैठक के बाद यॉर्कशायर को द हंड्रेड सहित सभी अंतर्राष्ट्रीय और प्रमुख मैचों की मेज़बानी से निलंबित कर दिया गया है।

क्लब को अगले साल जून में हेडिंग्ले में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ तीसरे टेस्ट और साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ एक वनडे मैच की मेज़बानी करनी थी। साथ ही वह ‘द हंड्रेड’ में नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स का होम ग्राउंड भी है। उन्हें 2023 में एशेज़ टेस्ट की मेज़बानी भी करनी थी।

हालांकि, एक बयान में, ईसीबी ने कहा कि जब तक क्लब स्पष्ट रूप से प्रदर्शित नहीं करता है कि वह एक अंतर्राष्ट्रीय मैदान, ईसीबी सदस्य और प्रथम श्रेणी काउंटी होने के अपेक्षित मानकों को पूरा कर सकता है, तब तक उसे प्रमुख मैचों की मेज़बानी से हटा दिया जाएगा।

अपने बयान में ईसीबी ने आगे कहा कि बोर्ड के लिए यह साफ़ हो गया है कि जिस तरह यॉर्कशायर काउंटी क्रिकेट क्लब ने अज़ीम रफ़ीक द्वारा उठाए गए मुद्दों से निपटने की कोशिश की है, वह अस्वीकार्य है और इससे खेल की प्रतिष्ठा को गंभीर नुक़सान पहुंचा रहा है। क्रिकेट में नस्लवाद या किसी भी प्रकार के भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं है और जहां यह पाया जाता है, वहां तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए।

क्लब के वरिष्ठ खिलाड़ी गैरी बैलेंस, जिन्होंने बुधवार को अपने पूर्व साथी रफ़ीक के प्रति नस्लवादी भाषा का इस्तेमाल करने की बात स्वीकार की, को भी इंग्लैंड टीम से अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया गया है।