ब्रिटेन में थेरेसा मे की हत्या की साजिश में युवक दोषी

youth guilty of plot to kill PM Theresa May
youth guilty of plot to kill PM Theresa May

लंदन। ब्रिटेन में एक 20 वर्षीय युवक को प्रधानमंत्री थेरेसा मे की हत्या की साजिश रचने का दोषी करार दिया गया है। उत्तरी लंदन के ओल्ड बेली कोर्ट ने बुधवार को नइमुर रहमान नामक इस युवक को आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने की तैयारी करने का दोषी करार दिया।

पुलिस के मुताबिक नइमुर रहमान ने लंदन में प्रधानमंत्री थेरेसा मे के आधिकारिक आवास 10, डाउंनिंग स्ट्रीट के गेट को आईईडी बम से उड़ाने की योजना बनाई थी। नइमुर रहमान की योजना गेट को बम से उड़ाने के बाद भीतर दाखिल होकर चाकू अथवा बंदूक से प्रधानमंत्री पर हमला करने की थी।

उल्लेखनीय है कि 10 डाउंनिंग स्ट्रीट ब्रिटिश प्रधानमंत्री का आधिकारिक आवास एवं कार्यालय है। यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं और इस सड़क के अंत में एक गेट है जहां आम जनता तथा पर्यटक प्रधानमंत्री आवास की एक झलक पाने के लिए एकत्र होते हैं।

लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस की आतंकवाद निरोधक कमान के प्रमुख डीन हेडन ने नइमुर रहमान को लेकर कहा कि हम एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बात कर रहे हैं जो पुलिस अधिकारियों समेत कई अन्य लोगों की हत्या कर सकता था।

हेडन ने बताया कि रहमान अपने एक चाचा के संपर्क में था जो सीरिया जाकर इस्लामिक स्टेेट में शामिल हो गया था। रहमान का चाचा अपने भतीजे को ब्रिटेन में हमले करने के लिए उकसाता था।

रहमान करीब दो साल से प्रधानमंत्री थेरेसा मे पर हमला करने की योजना बना रहा था, लेकिन उसका इरादा और भी पक्का हो गया जब उसे पता चला कि उसका चाचा एक ड्रोन हमले में मारा गया है।

अमेरिका की संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई), ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी एमआई5 तथा स्थानीय पुलिस के एक गुप्त संयुक्त अभियान में नइमुर रहमान की योजना का पता चला था।

प्रधानमंत्री थेरेसा मे की हत्या की साजिश का उस समय पता चला जब रहमान ने हमले के सिलसिले में मदद मांगने के लिए कुछ लोगों से ऑनलाइन संपर्क किया। रहमान को लगा कि वह इस्लामिक स्टेट के सदस्यों से बात कर रहा है लेकिन वह वास्तव में एफबीआई और एमआई5 सुरक्षा सेवा के अधिकारी थे।

रहमान को गत वर्ष नवंबर में उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह आईएस के सदस्यों से दो आईईडी विस्फोटक एकत्र कर रहा था। यह आईएस के सदस्य वास्तव में एफबीआई और एमआई5 सुरक्षा सेवा के अधिकारी थे।