जान की कीमत महज चार सौ रुपए

IMG-20140922-WA0012

सरूपगंज(सिरोही)। उधार में हुए चार सौ रुपए की बसूली एक भाई ने दूसरे भाई की सांसे छीनकर लिया। मामला है सिरोही जिले के सरूपगंज थानांतर्गत मांडवाड़ा खालसा गांव का। यहां खून के रिश्तों को शर्मींदा करते हुए एक भाई ने दूसरे को मार दिया। यह घटना रविवार रात को ही हो गई थी, लेकिन पुलिस को इसकी सूचना सोमवार सवेरे मिली।…
सरूपगंज थानाधिकारी ईश्वर पारीख के अनुसार मांडवाड़ा खालसा गांव में यह वारदात हुई जिसकी रिपोर्ट मृतक और हत्या करने वाले व्यक्ति के भाई ने ही दर्ज करवाई। माण्डवाड़ा खालसा के पीपलीवाला ओडा फली निवासी बाबू पुत्र सोमा गरासिया ने रिपोर्ट दी और बताया कि रविवार रात को उसका दाटा भाई रमेश गरासिया शराब पीकर घर आया। उस समय उसका दूसरा भाई चूनाराम गरासिया आंगन में ही चारपाई पर लेटा हुआ था।

रमेश को देखकर चूनाराम ने उसके पुराने हिसाब के चार सौ रुपए का तकादा किया। इस पर रमेश को गुस्सा आ गया और वह सीधे अपने घर के अंदर गया और कुदाली उठा लाया। बाहर चारपाई  पर  लेटे चूनाराम  उसने वार कर दिया। इससे पहले कि चूनाराम कुछ समझ पाता उसने एक के बाद एक वार कर दिए। इससे चूनाराम बेहोश हो गया। इसकी जानकारी रात को किसी को नहीं हो पायी थी

सवेरे जब वह उठा नहीं तो घरवालों को पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर शव को कब्जे में लिया और इसे पोस्टमार्टम करवाने के लिए सरूपगंज स्थित मोर्चरी में रखवाया।