बच्चे को मिला आसरा, बाल आयोग अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने थामा हाथ

सबगुरु न्यूज उदयपुर। उदयपुर के झाड़ोल तहसील के कोल्यारी गांव में रहने वाले नन्हें उमेश की पीड़ा की जानकारी मिलने पर बाल आयोग अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने उमेश को सहारा दिलाया।

बुजुर्ग दादा-दादी का इकलौता पोता उमेश, जिसके जीवन मे पूरी तरह अंधकार भरा था जिसका जीवन मानो घनी अंधियारी रात हो। एक तो गरीब परिवार और दूसरा मानसिक कमजोर और एचआईवी पॉजिटिव जिसके पिता की एचआइवी के कारण मौत हो चुकी थी, माता किसी अन्य व्यक्ति के साथ नाते जा चुकी थी। वह बच्चा अपना काम खुद नहीं कर सकता। उसको दादा-दादी पशुओं के बाड़े में बंद कर रखते थे, उनको डर था कि बच्चा कहीं चला नहीं जाए।

इस मामले की राज्य बाल आयोग अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी को खबर लगते ही आयोग अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने उदयपुर समाज कल्याण विभाग के उपनिदेशक, बाल कल्याण समिति के सदस्य, स्थानीय पुलिस थाना से जाप्ता और सामाजिक क्षेत्र की संस्थाओं के प्रतिनिधियों को कोल्यारी भेजकर तुरन्त बच्चे को उदयपुर में चिकित्सकीय जांच करवाकर नारायण सेवा संस्थान में शेल्टर करवाया।

बच्चे को पालनहार योजना से जोड़ने के निर्देश दिए गए हैं। जल्द ही बच्चे को पालनहार योजना से जोड़ा जाएगा तथा बच्चे का पूरा इलाज निःशुल्क करवाया जाएगा।