चीन में बेटे ने किया पिता का 92 अरब अमेरिकी डॉलर का साम्राज्य लेने से इन्कार

chinas richest man looking for successor after son refuses to takeover
chinas richest man looking for successor after son refuses to takeover

बीजिंग। चीन में 92 अरब अमेरिकी डॉलर के कारोबारी साम्राज्य के मालिक और देश के सबसे बड़े रईस वांग जियानलिन ने कहा है कि उनके बेटे ने उनका उत्तराधिकारी बनने से इन्कार कर दिया है। उन्हें अब अपने उत्तराधिकारी की तलाश करनी पड़ रही है। प्रोफेशनल मैंनेजरों के ग्रुप में से उत्तराधिकारी चुना जा सकता है। चुना गया उत्तराधिकारी ही उनके कारोबार को संभालेगा।

कुछ समय पहले वांग जियानलिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। उन्होंने हरियाणा में एक चीनी मिल परियोजना में 10 अरब अमेरिकी डॉलर निवेश करने का वादा किया था।

शॉपिंग मॉल, थीम पार्क, स्पोर्ट्स क्लब तथा सिनेमा घरों के स्वामित्व वाले डालियान वांडा ग्रुप के संस्थापक चेयरमैन 62-वर्षीय वांग जियानलिन ने कहा कि वह प्रोफेशनल मैनेजरों के ग्रुप में से किसी को उत्तराधिकारी चुनेंगे।

मीडिया से जियानलिन ने कहा, ‘मैंने अपने बेटे से बातचीत की तो उसने कहा कि वह वैसी जिंदगी नहीं जीना चाहता, जैसी मैंने जी है। शायद युवा लोगों की अपनी जद्दोजहद और प्राथमिकताएं होती हैं। कारोबार को प्रोफेशनल मैनेजरों के हवाले कर देना शायद बेहतर रहेगा।’

बंदरगाह वाले डालियान शहर में 1988 में स्थापित डालियान वांडा ग्रुप की फर्श से अर्श तक पहुंचने की कहानी है। छोटे-मोटे डेवलपर के रूप में ग्रुप की शुरुआत हुई थी। अब इस ग्रुप के पास शॉपिंग मॉल, होटल, थीम पार्क के साथ ही दुनिया में सबसे ज्यादा सिनेमा हॉल हैं।