तीन दिन बढाया संत रामपाल का पुलिस रिमांड

rampal

 हिसार। पुलिस ने रामपाल को सोमवार कडी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया जहां से रामपाल को हत्या के मामले में तीन दिन के और पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। आश्रम में रामफल के जो अनुयायी आए थे उनमें से ६ की मौत हो गई थी और पुलिस ने रामफल हत्या मुकदमा दर्ज किया है पुलिस ने हत्या के मामले में रामफल को सोमवार को तीन दिन के और पुलिस रिमांड पर लिया है।

रामपाल को सिविल लाइन थाना से बरवाला थाना में ले जाया गया। थाने में एसआइटी की टीम ने करीब छह घंटे तक पूछताछ की। रिमांड पर लिए गए करीब एक दर्जन अभियुक्तों को भी दोपहर को बरवाला ले जाया गया। सभी अभियुक्तों से पहले अलग अलग तथा फिर आमने.सामने बैठाकर पूछताछ की गई।

क्रॉस पूछताछ के दौरान पुलिस ने अभियुक्तों के बयान भी दर्ज किए। पुलिस ने बताया है कि रामपाल पर दर्ज हत्या मामले में भी उसे गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस उसका कोर्ट में रिमांड भी मांगेगी। बरवाला पुलिस ने बताया है कि रामपाल का बेटा वीरेंद्रए बलजीतए सोनूए कुशलदासए जगदीशए सुखबीरए अनिलए देवेंद्रए सतबीरए जोगिंद्रए मनोजए नायब को भी थाने लाया गया था।

एसआइटी की टीम ने रामपाल से बंद कमरे में पूछताछ की। टीम के सदस्यों के अलावा कमरे में किसी को भी अंदर नहीं रहने दिया गया। रामपाल के खास राजदार बलजीत व बेटे वीरेंद्र से भी क्रॉस पूछताछ की गई। रामपाल का सामान्य अस्पताल में मेडिकल कराया गया। सिविल लाइन थाने की पुलिस रामपाल को बरवाला से सीधे सामान्य अस्पताल लेकर आई। इसके बाद रामपाल का मेडिकल कराया। रामपाल की एसिडिटी की समस्या पूरी तरह से खत्म नहीं हो पाई है।

जिलाधीश डाॅ. चन्द्रशेखर खरे ने माननीय हरियाणा एवं पंजाब उच्च न्यायालय के आदेशों की अनुपालना करने के लिए बरवाला स्थित सतलोक आश्रम से रामपाल को गिरफ्तार करने के दौरान आश्रम के चारों और तैनात पुलिस कर्मियों द्वारा पत्रकारों से किए गए दुरव्यवहार की शिकायत की जांच हेतू अतिरिक्त उपायुक्त राज नारायण कौशिक को जांच अधिकारी नियुक्त किया है।

इस आशय में जारी आदेशानुसार अतिरिक्त उपायुक्त मामले की जांच उपरान्त अपनी रिपोर्ट 7 दिनों के भीतर जिलीधीश को सौंपेगें। इस सन्दर्भ में मीडिया कर्मी अपना पक्ष अतिरिक्त उपायुक्त के समक्ष रख सकते है।