Monday , 17 December 2018

आईएसएल 2017 : घर में जमशेदपुर को चेन्नयन ने 1-0 से हराया

ISL 2017: Chennaiyin FC beat Jamshedpur FC to consolidate top spot
ISL 2017: Chennaiyin FC beat Jamshedpur FC to consolidate top spot

जमशेदपुर। जेजे लालपेखुल्वा द्वारा 44वें मिनट में पेनाल्टी पर किए गए गोल के दम पर पूर्व विजेता चेन्नयन एफसी ने गुरुवार को जमशेदपुर एफसी को इंडियन सुपर लीग के चौथे सीजन में उसके घर जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स स्टेडियम में 1-0 से हरा दिया।

जमशेदपुर के पास इस हार को टालने का बेहतरीन मौका 45वें मिनट में पेनाल्टी के रूप में ही आया था, लेकिन चेन्नइयन के गोलकीपर करणजीत ने हैती के स्ट्राइकर केवेंस बेलफोर्ट की किक को रोक स्कोर बराबर नहीं होने दिया और मैच के हीरो साबित हुए। इस बचाव के अलावा भी करणजीत ने कुछ और अच्छे बचाव किए।

इस जीत के साथ चेन्नयन ने 10 टीमों की अंकतालिका में अपने पहले स्थान को और मजबूत कर लिया है। इस मैच में मिले तीन अंकों के बाद चेन्नयन के आठ मैचों में पांच जीत, एक ड्रॉ और दो जीत के बाद 16 अंक हो गए।

वहीं जमशेदपुर की यह इस सीजन की दूसरी हार है। वह छठे स्थान पर ही काबिज है। उसे यह दोनों हार घर में ही मिली है। इससे पहले 10 दिसंबर को खेले गए मैच में एफसी पुणे सिटी ने उसे इसी मैदान पर 1-0 से मात दी थी।

चेन्नइयन का स्कोर 2-0 हो सकता था अगर जेजे, मैच के इंजुरी टाइम में गोलपोस्ट के सामने मिले मौके पर गेंद बाहर नहीं मारते तो, लेकिन ऐसा नहीं हो सका और जीत का अंतर 1-0 ही रहा।

पहले हाफ में मौके गंवाने के बाद जमशेदपुर ने दूसरे हाफ में अपनी कोशिशों को जारी रखी, लेकिन सफलता उसकी किस्मत में नहीं थी। जमेशदपुर ने हालांकि पहले हाफ की शुरुआत के कुछ मिनटों तक चेन्नयन पर हावी रही, लेकिन धीरे-धीरे उसने मैच पर से अपनी पकड़ ढीली कर दी।

मेजबान टीम ने दूसरे मिनट में ही गोल करने का मौका बनाया। मेहताब हुसैन ने दाहिने छोर से गेंद ली और आगे बढ़ दिए और कुछ देर के बाद गेंद बिकास जैरू को दी जिन्होंने बॉक्स में खड़े बेलफोर्ट के पास गेंद पहुंचाई, बेलफोर्ट ने यहां देर कर दी और उनके शॉट को करणजीत ने रोक लिया।

छठे मिनट में भी मेजबान टीम ने मौका बनाया। शौविक चक्रवर्ती ने गेंद जैरी को दी जिन्होंने गोलपोस्ट पर शॉट तो दागा, लेकिन वह बाहर चला गया।

लगातार आक्रमण झेल रही चेन्नयन ने नौवें मिनट में ही बदलाव किया और जर्मनप्रीत सिंह को बाहर करते हुए बिक्रमजीत सिंह को मैदान पर उतारा। मेजबान टीम के दबाव में दिख रही चेन्नयन ने धीरे-धीरे अपने खेल में सुधार किया।

मैच के पहले हाफ में ज्यादा कुछ हो नहीं रहा था, लेकिन 40वें मिनट में मिली पेनाल्टी ने मैच का रुख बदल दिया और रोमांच पैदा कर दिया। बॉक्स के अंदर मेहताब गेंद को लेने के प्रयास में गिर गए। इसी बीच फर्नाडेज ने उन्हें छकाने की कोशिश की और गेंद मेहताब के हाथ में लगी। रैफरी ने यहां चेन्नयन को पेनाल्टी दी जिसे जेजे ने गोल में बदलने में कोई गलती नहीं की।

चेन्नइयन यहां 1-0 से आगे हो गई थी, लेकिन 45वें मिनट में उसके माथे पर भी शिकन थी जिसे उसके गोलकीपर करणजीत ने हटा दिया। इस मिनट में जमशेदपुर को पेनाल्टी मिली, लेकिन बेलफोर्ट इस पर गोल नहीं कर पाए। बेलफोर्ट ने गेंद बाएं कोने में मारनी चाही जिसे करणजीत ने डाइव मार कर रोक लिया और अपनी टीम की बढ़त को कायम रखते हुए स्कोर बराबर होने से रोक लिया।