आईएसएल-4 : रोमांचक मुकाबले में बेंगलुरू की जीत

ISL-4 : Bengaluru FC beat north east united FC
ISL-4 : Bengaluru FC beat north east united FC

गुवाहाटी। बेंगलुरू एफसी ने शुक्रवार को इंदिरा गांधी स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग के चौथे सीजन में रोमांचक मुकाबले में मेजबान टीम नार्थईस्ट युनाइटेड को 1-0 से मात दी। बेंगलुरू के लिए यह गोल 47वें मिनट में मिकू ने किया। यह बेंगलुरू की तीसरी जीत है। इस जीत के साथ ही वह अंक तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गई है। उसने अभी तक चार मैच खेले हैं जिनमें तीन में जीत और एक में हार उसके हिस्से आई है।

अपने स्टार गोलकीपर गुरप्रीत सिंह पर लगे दो मैचों के प्रतिबंध के बाद बेंगलुरू इस मैच में माथे पर शिकन लेकर उतरी थी, लेकिन लालथुमावाई राल्टे ने गुरप्रीत को कमी को महसूस नहीं होने दिया और मिकू ने रोचक मुकाबले में मौका का फायदा उठाते हुए गोल कर अपनी टीम को जीत दिलाई।

मैच पहले पल से ही बेहद रोमांचक रहा। दोनों टीमों ने बेहद आक्रामक फुटबाल खेली और लागातार मौके बनाए। खेल का स्तर इस तरह का था कि मैदान पर मौजूद प्रशंसक हर पल अपनी सांसे थामे हुए बैठे रहे। पहले हाफ में कई मौके बने लेकिन दोनों टीमें गोल करने में असफल रहीं। लेकिन दूसरे हाफ में मिकू ने उदांता की मदद से बेहतरीन गोल करते हुए अपनी टीम को आगे कर दिया। इस गोल के बाद कोई और गोल नहीं हो सका।

बेंगलुरू के लिए यह जीत आसान नहीं रही क्योंकि मेजबान टीम ने शानदार खेल खेला। हालांकि पहले हाफ में गेंद अधिकतर समय बेंगलुरू के पास रही, लेकिन मौके नार्थईस्ट ने ज्यादा बनाए। मेजबान टीम के लिए छठे मिनट में ही एडिल्सन गोइयानो ने मौका बनाया। वह गेंद लेते हुए आगे बढ़े और अपने लिए जगह बनाते हुए गोलपोस्ट पर निशाना साधा। उनके शॉट में ज्यादा ताकत नहीं थी इसी कारण किक सीधे गोलकीपर के हाथों में चली गई।

14वें मिनट में बेंगलुरू ने पलटवार किया और मिकू ने गोल करने का जिम्मा संभाला। उदांता ने दाहिने कोने से गेंद ली और मिकू को पास दिया। मिकू शॉट ले पाते तभी मेजबान टीम के डिफेंडर आ गए और मिकू अपना काम नहीं कर पाए।

27वें मिनट में उदांता ने एक और मौका बनाया, लेकिन इस बार इडू गार्सिया गोल करने से चूक गए। नार्थईस्ट भी लगातार मौके बनाने की कोशिश कर रही थी। 34वें मिनट में मार्सिहो और गोइयान ने आपस में बेहतरीन खेल दिखाते हुए बॉक्स के करीब पहुंचे, लेकिन अंतत: यह जोड़ी गोल करने में असफल रही।

छह मिनट में मार्सिहो गोल करने का एक और मौका गंवा बैठे। इस बार मार्सिहो की किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया। उन्होंने बिना किसी देरी के गेंद को गोलपोस्ट के निचले कोने में डालने की कोशिश की जो असफल रही और गेंद बाहर चली गई।

अगले ही मिनट उन्होंने एक और बेहतरीन मौका गंवा दिया। मार्सिहो ने बीच से गेंद ली और अपने बाएं पैर से गोलपोस्ट पर निशाना साधा। उनका शॉट शानदार था जो गोलकीपर को छका गया था, लेकिन मार्सिहो की किस्मत में शायद गोल नहीं था और गेंद बाहर चली गई।

पहला हाफ बेहद रोमांचक रहा लेकिन गोल नहीं हो सका, लेकिन दोनों टीमों ने दूसरे हाफ में मैच को वहीं शुरू किया जहां से छोड़ा था। उसी आक्रामकता और तेजी से दोनों टीमें खेल रही थीं और आखिरकार मिकू ने अपनी टीम को 47वें मिनट में आगे कर दिया।

यह एक तरीके से नार्थईस्ट के गोलकीपर टीपी रेहेनेश द्वारा बेंगलुरू को तोहफे में दिया गया हुआ गोल था। रेहेनेश को निर्मल छेत्री ने गेंद दी, जिन्होंने समय रहते हुए क्लीयर करने की अपेक्षा गेंद गोंजालवेस को दी। यहां से उदांता ने गेंद पर अपना कब्जा जमाया और मिकू को गेंद सौंपी जिन्होंने आसानी से गोलपोस्ट के बाएं कोने में गेंद को डाल अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया।

हालांकि इस बढ़त से मेजबान टीम दबाव में नहीं आई। 62वें मिनट में मार्सिहो ने कॉर्नर किक ली जो गोंजावेज के पास पहुंची। उन्होंने हेडर लगाया जो गोलपोस्ट के ऊपर चला गया। अंत में दोनों टीमों ने मौके बनाए, लेकिन मिकू का गोल निर्णायक साबित हुआ और बेंगलुरू ने अपनी तीसरी जीत दर्ज की।