जिगर को न्याय दिलाने के लिए निकाली रैली

3

सिरोही। शिक्षकों की कथित प्रताडना के कारण गत सप्ताह पालडी एम आत्महत्या करनेवाले 14 वर्षीय जिगर रावल को न्याय दिलाने के लिए उनके परिजनों ने सिरोही में मौन रैली निकाली। बाद में यह लोग सरजावाव दरवाजे पहुंचे जहां पर उन्होंने जिगर की आत्महत्या के जिम्मेदार शिक्षकों को सख्त सजा दिलवाने की मांग करते हुए गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया को ज्ञापन सौंपा।

शिक्षकों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा
इधर, पुलिस ने सोमवार को जिगर के सुसाइड नोट में जिन तीन शिक्षकों के नाम थे उन्हें न्यायालय में पेश किया। पालडी एम थानाधिकारी रामसिंह ने बताया कि सुबोध स्कूल के शिक्षक भरतकुमार रूपाराम कुम्हार, ताराराम भैराराम कुम्हार और सुमेरसिंह तेजसिंह राजपूत को सोमवार को न्यायायल में पेश किया गया, जहां से उन्हें 29 नवम्बर तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया है। उल्लेखनीय है कि 12 नवम्बर को मोरली निवासी 14 वर्षीय जिगर रावल पुत्र भरत रावल ने अपने घर में किचन में रस्सी से लटककर आत्महत्या कर ली थी। उसके सुसाइड नोट में शिक्षकों द्वारा की जा रही प्रताडना को इसका कारण बताया था। इस पर पुलिस ने तीनों शिक्षकों को गिरफतार कर लिया था।

अर्पित की श्रद्धांजलि
मासूम जिगर रावल को सिरोही में लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान रविवार शाम को लोग अहिंसा सर्किल पर एकत्रित हुए और मोमबत्ती जलाकर उसे श्रद्धांजलि अर्पित की।