रोहतक पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, रवि पंडित की मौत

रोहतक। रोहतक शहर के आउटर क्षेत्र में कच्चा चमारिया रोड़ पर एक व्यक्ति का अपहरण कर ले जा रहे बदमाश और पुलिस आमने सामने हो गई। बदमाशों ने पुलिस की गाड़ी का टक्कर मार दी और फायरिंग भी।

पुलिस ने जवाबी कार्यवाही की और उसमें रवि पंडित की मौत हो गई। जबकी नागलोई के रहने बदमाश हिमांशु गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को रोहतक पीजीआई में भर्ती करवाया गया है। इस मुठभेड़ में 2 बदमाश भागने में कामयाब हो गए। हालांकि आपसी टक्कर में दोनों गाड़ियां खेतों में पलट गई। जिसमें पुलिस 4 जवाब भी घायल हो गए।

फिलहाल पुलिस घायल बदमाश से पुछताछ करने में जुटी हुई है और फरार बदमाशों को जल्द गिरफ्तार करने का दावा किया जा रहा है। देर रात पुलिस का सूचना मिली थी कि बोहर गांव के पास से शहर के प्रतिष्ठित डाक्टर अरूण नरूला की गाड़ी में उसके ड्राईवर का अपहरण कर ले गए है। जिस पर रोहतक पुलिस ने नाकाबंदी की और अपराध जांच शाखा की टीम ने उस गाड़ी का पीछा करना शुरू कर दिया।

जैसे ही पुलिस की गाड़ी व अपहरणकर्ताओं की गाड़ी कच्चा चमारिया रोड़ पर पहुंची तो आमने सामने हो गई। बदमाशों ने पुलिस की गाड़ी को टक्कर मार दी। स्पीड ज्याद होने के चलते हालांकि दोनों ही गाड़ियां खेतों में पलट गई। बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग भी की, पुलिस ने जवाबी कार्यवाही की तो रवि पंडित व हिमांशु नामक बदमाश को गोलियां लगी। इलाज के लिए रोहतक पीजीआई लाया गया जहां रवि ने दम तौड़ दिया।

रवि के परिजन का कहना है कि हमें तो सिर्फ सूचना मिली कि यह घटना हुई है। अब ये पता करेंगे कि क्या घटना हुई है। अपहृत हुए ड्राईवर विरेंद्र ने बताया कि उसका गन प्वाईंट पर अपहरण किया और आंखों पर पट्टी बांध कर उसे ले गए। लेकिन पुलिस की त्वरित कार्यवाही से उसकी जान बच गई।

वहीं रोहतक पुलिस अधीक्षक पंकज नैन ने बताया कि बदमाशों की योजना थी कि ड्राईवर का अपहरण कर थोड़ी रकम मांग कर डाक्टर को बुलाने की साजिश थी और जैसे ही डाक्टर पैसे लेकर आएगा तो उसका अपहरण कर लेंगे और फिर मोटी रकम की मांग करेंगे। लेकिन पुलिस ने साजिश नाकाम कर दिया और ड्राईवर की जान बच गई। इस मामले में उन्हें दो हथियार भी बरामद किए हैं और जल्द ही अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर सजा दिलवाई जाएगी।