जेवरात के लिए की थी महिला की हत्या, वो तो निकले नकली

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर के टीडी थाना क्षेत्र के अंतर्गत नेशनल हाईवे पर मिले महिला के शव के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में महिला सरोज मट्ठा की हत्या के आरोप में शिवनारायण सिंह को गिरफ्तार किया है।

इस मामले का खुलासा करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) बृजेश सोनी ने बताया कि शिवनारायण सिंह ने सरोज मट्ठा की हत्या इसलिए कर दी क्योंकि उसके पास जो जेवरात थे वह उसे सोने के समझ बैठा था जबकि वह सभी जेवरात आर्टिफिशियल थे।

सोनी ने यह भी बताया कि सरोज मट्ठा के पति इंदर सिंह मट्ठा ने 27 जून को इसके लापता होने की रिपोर्ट थाने में दर्ज करवाई थी, जिसके बाद पुलिस को इसकी तलाश थी। 28 जून को टीडी थाना क्षेत्र में अर्धनग्न अवस्था में महिला का शव मिला था।

इसके बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि सरोज मट्ठा अपनी बहन से 40 तोले वजनी जेवर लेकर गई है। इस पर चेतक सर्कल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में सरोज मट्ठा और शिवनारायण सिंह का एक कार में होना दिखाई दिया। इस पर पुलिस ने शिवनारायण सिंह से पूछताछ कीे लेकिन उसने अपना जुर्म कबूल नहीं किया।

पुलिस ने पूरी तरह से छानबीन के बाद नाथद्वारा टोलनाके और उनके सीसीटीवी कैमरे की रिकाॅर्डिंग दिखाई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया और जेवरात के लिए उसकी हत्या करना कबूल किया।

शिवनारायण सिंह ने इसके लिए देहलीगेट से जहरीली वस्तु पेयपदार्थ में मिलाकर सरोज को पिला दी जिसके बाद वह बेहोश हो गई। उदयपुर-गुजरात फोरलेन पर टीडी क्षेत्र के पास सुनसान जगह पर उस पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी जिससे उसकी पहचान नही हो सके।