नौकरानी के अपमान पर भारतीय मूल की महिला को जेल

सिंगापुर। भारतीय मूल की सेना की एक पूर्व वारंट अधिकारी को अपनी भारतीय नौकरानी को पीटने व गाली देने पर सोमवार को चार महीने व तीन हफ्ते की सजा सुनाई गई।

के. राजकुमारी (57) ने अपनी नौकरानी से 2012 में लगातार बदसलूकी की व एक बार प्लॉस्टिक के हैंगर से तब तक पीटा जब तक हैंगर टूट नहीं गया।

अपनी 35 साल की सेवा के बाद सेवानिवृत्त हुई राजकुमारी ने भारतीय नागरिक सरगुनम जीवा से तमिल में माफी मांगी और अपने कुटु अनुभव किसी से नहीं कहने को कहा।

स्ट्रेट टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक मामले को देखने वाले पुलिस अधिकारी द्वारा भाषा समझने की वजह से राजकुमारी पकड़ी गई।

मामले की 14 दिनों की सुनवाई के बाद जिला न्यायाधीश इमरान अब्दुल हमीद ने जीवा (35) को नुकसान पहुंचाने के लिए राजकुमारी को 5 सितंबर को दोषी ठहराया था।

जीवा पहली बार जनवरी 2012 में सिंगापुर आईं थीं। राजकुमारी को उन्हें प्रति महीने 350 सिंगापुर डॉलर का भुगतान करना था। जीवा को अंग्रेजी नहीं आती थी।

फरवरी 2012 से ही जीवा पर राजकुमारी के जुल्म शुरू हो गए थे। जब स्थिति बर्दाश्त से बाहर हो गई तो जीवा ने पड़ोस के लोगों को इस बारे में बताया जिन्होंने पुलिस को मामले की सूचना दी।

पुलिस जांच के दौरान राजकुमारी की हकीकत तब खुली जब उसने तमिल में जीवा से कहा कि प्लीज, मुझे माफ कर दो..प्लीज गाली-गलौच मारपीट के बारे में किसी से कुछ न कहना।लेकिन, उस दौरान वहां मौजूद पुलिस अफसर तमिल जानता था।