समाज कल्याण विभाग ने किया छात्रावासों में पॉकेट डिक्शनरी देने का निर्णय

social welfare
अलवर। समाज कल्याण विभाग ने छात्रावासों में रहने वाले बच्चों की अंग्रेजी भाषा पर पकड़ मजबूत बनाने एवं अंग्रेजी के किसी भी शब्द की जानकारी से अवगत कराने के लिए अंग्रेजी की पॉकेट डिक्शनरी (शब्दकोश) देने का निर्णय लिया है।

इससे छात्र समय के साथ अंग्रेजी भाषा में भी तालमेल से आगे बढ़ सकेंगे। साथ ही फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने में मदद मिलेगी। डिक्शनरी का वितरण जनवरी 2015 से करेगा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से जिले में 30 छात्रावासों का संचालन किया जा रहा है। इन छात्रावासों में 1110 बच्चे आवासीय सुविधा लेकर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

इनमें एससी के 619, एसटी के 168, ओबीसी के 266, एसबीसी के 404 व आर्थिक पिछड़ा वर्ग के 21 बच्चे रहते हैं। डिक्शनरी की सहायता से यहां रहने वाले बच्चे अंग्रेजी के ज्ञान को और विकसित कर सकते हैं।
अंग्रेजी में निपुणता के लिए छात्रावास अधीक्षक भी बच्चों की मदद करेंगे। गौरतलब है कि छात्रावासों में रहने वाले ज्यादातर बच्चे निम्न व मध्यम वर्ग से होते हैं, जो छात्रावासों में रहकर सरकार की सहायता से पढ़ते हैं। उन्हें अक्सर अंग्रेजी पढ़ने-लिखने में परेशानी होती है। अंग्रेजी भाषा में कमजोरी के कारण कई बार परेशानी होती है। बहुत से छात्र कोचिंग करने की स्थिति में नहीं होते हैं। ऐसे में अब वे डिक्शनरी की सहायता से शब्दों का उपयोग आम बोलचाल की भाषा में कर सकेंगे।
इसके अलावा छात्रावासों में पुस्तकालय की भी सुविधा दी जाती है। यहां रहने वाले बच्चों के मानसिक विकास के लिए विभिन्न प्रकार की साहित्यिक पुस्तकें पत्र-पत्रिकाएं भी उपलब्ध कराई जाती हैं। सााथ ही कम्प्यूटर शिक्षण की भी सुविधा उपलब्ध कराई जाती है।  विभाग के सभी छात्रावासों में बच्चों को अंग्रेजी की डिक्शनरी दी जाएगी। जिससे ये बच्चे भी अंग्रेजी स्कूल वाले विद्यार्थियों की तरह अंग्रेजी का अधिक से अधिक उपयोग कर सकें।