120 फुट लंबी सुरंग खोदकर बैंक में सेंध

sonipat heist plotter  found dead as cops crack case
sonipat heist plotter found dead as cops crack case

सोनीपत। यह किसी बैंक रॉबरी पर बनी हॉलीवुड थ्रिलर फिल्म से कुछ कम नहीं है। हरियाणा के सोनीपत जिले के गोहाना में पुराने बस अड्डे के निकट पंजाब नेशनल बैंक के लॉकरों में रखा माल उड़ाने के लिए चोरों ने जो तरीका ईजाद किया जिसकी किसी ने कल्पना तक नहीं की थी। चोर बैंक के स्ट्रॉंगरूम में बने लॉकरों तक पहुंचने के लिए बेहद सुनियोजित तरीके एक महीने तक सुरंग खोदते रहे और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी।..

एक बंद पड़े मकान से शरू हुई यह सुरंग लगभग 120 फुट का फासला तय करती हुई आखिर में वहां पहुंच गई जहां चोर पहुंचना चाहते थे। चोरों ने स्ट्रॉंगरूम में 89 लॉकर तोड़े और नकदी, सोने और चांदी के जेवरात सहित अन्य कीमती माल पर हाथ साफ करने के अपने मिशन में कामयाब भी हो गए लेकिन इससे पहले कि वे माल हजम कर पाते चोरी में शामिल तीन लोग पुलिस के हत्थे चढ़ गए और उनके अमीर बनने और मौज मस्ती करने के ख्वाब धरे के धरे ही रह गए। सुरंग बनाने के लिए सेंधमारों ने जिस मकान का इस्तेमाल किया था उसके मालिक को एक कार में मृत पाया गया है। इसके बाद डकैती की इस घटना में नया मोड़ आ गया है। पुलिस का कहना है कि महिपाल ने आत्महत्या की है।

हरियाणा पुलिस ने 48 घंटा के भीतर ही चोरी के मामले को सुलझाने का दावा करते हुए इस सिलसिले में तीन लोगों को गुरूवार को गिरफ्तार कर उनसे 23.400 किलो सोने और चांदी के जेवरात बरामद किए हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की शिनाख्त सुरेंद्र उर्फ काला, बलराज और सतीश के रूप में की गई है। इनसे पूछताछ के आधार पर इस वारदात में शामिल दो अन्य राजेश और महिपाल को भी दबोचने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।
उल्लेखनीय है कि गत सोमवार को बैंक खुलने के साथ ही सामने आई चोरी की इस वादात में शामिल लोगों का सुराग देने के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक एस.एन वशिष्ठ ने दस लाख रूपए के ईनाम की घोषणा की थी। मामले की जांच गुड़गांव के संयुक्त आयुक्त विवेक शर्मा की निगरानी में साइबर और अपराध शाखा की टीमें कर रहीं थीं।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इस घटना के सम्बंध में पांच लाकरमालिकों की एक कमेटी गठित की गई है। चोरी हुआ शेष सामान बरामद करने के प्रयास जारी हैं। वशिष्ठ ने इस मामले की जांच में शर्मा सहित सभी पुलिसकर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि चोरी हुई सम्पति की पूरी बरामदगी की जाएगी तथा इसे इनके में मालिकों में सही तरीके बांटा जाएगा। उन्होंने कहा कि मामले को सुलझाने में लगे पुलिस कर्मियों को ईनाम भी दिया जाएगा।