उदयपुर : मादड़ी अण्डरपास शुरू, 25 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात  

सबगुरु न्यूज़ उदयपुर। उदयपुर शहर और कानपुर-मादड़ी के बीच की राह अब सुगम हो गई है। अब तक लोगों को बाइपास पार करके जाना पड़ता था जिसमें भारी वाहनों और लगातार जाम के चलते दुर्घटना की आशंका बनी रहती थी। अब यहां अण्डरपास बन जाने से राहत मिल गई है।

25 करोड़ के कार्यों की भी रखी आधारशिला

इस अण्डरपास का लोकार्पण गुरुवार शाम राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया एवं नगरीय विकास मंत्री श्रीचन्द कृपलानी ने किया। इसके साथ ही उन्होंने प्रतापनगर-बलीचा बाइपास चौड़ा करने के कार्य का शुभारंभ करते हुए शहर को 25 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात दी।

इस अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि शहर के विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं है। राज्य एवं केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से शहर के विकास के लिए लगभग 5 हजार करोड़ की बड़ी धनराशि प्राप्त हुई है। शहरवासियों का कर्तव्य है कि वे स्मार्ट सिटी के अनुरूप अपना आचरण कर पर्यटन नगरी को विश्व मानचित्र पर पहले पायदान पर रखने में अपना योगदान दें।
कटारिया ने कहा कि मेवाड़ क्षेत्र में सड़क एवं रेल से जुड़े विकास कार्यों के लिए केन्द्र सरकार से काफी पैसा प्राप्त हुआ है, जिसमें उदयपुर-अहमदाबाद ब्राॅडगेज, मावली-मारवाड़ जंक्शन ब्राॅडगेज, उदयपुर स्टेशन का आधुनिकीकरण, ईएसआई हॉस्पीटल का निर्माण, नई मण्डी का निर्माण एवं स्मार्ट व अमृत सिटी योजना जैसे कार्य शामिल हैं।
समारोह को संबोधित करते हुए नगरीय विकास मंत्री श्रीचन्द कृपलानी ने कहा कि मादड़ी अंडरपास बनने से क्षेत्र के लोगों को ट्रैफिक की समस्या से निजात मिली है। आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं से भी मुक्ति मिलेगी।
उन्होंने कहा कि राज्य की 151 नगर पालिकाओं में शहरी गौरवपथ निर्माण के लिए ढाई-ढाई करोड़ का प्रावधान कर छोटे शहरों को भी खूबसूरत बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। 6 लाख से अधिक एलईडी लाइट्स लगाकर लगभग 144 करोड़ की बिजली की बचत की गई है।
अन्नपूर्णा रसोई के माध्यम से शहरी गरीबों को बहुत कम लागत में भोजन व नाश्ते की योजना जल्द ही सभी शहरों में प्रारंभ कर दी जाएगी। प्रधानमंत्री जन आवास एवं मुख्यमंत्री जन आवास योजना को सम्मिलित कर किसी भी गरीब को स्वयं को छत से वंचित नहीं रहने दिया जाएगा। इसके तहत साढ़े 10 लाख मकान बनाए जाना प्रस्तावित है।
यूआईटी अध्यक्ष रवीन्द्र श्रीमाली ने बताया कि मादड़ी अंडरपास के निर्माण पर 5.04 करोड़ की लागत आई है। एकलिंगपुरा चैराहे पर बनने वाले अंडरपास पर 6.46 करोड़ रुपये व्यय होंगे तथा प्रतापनगर से बलीचा तक साढ़े 11 किमी लम्बाई के बाइपास को 15 फीट चौड़ा किया जाना है जिस पर 13.62 करोड़ की लागत आएगी।

कटारिया विरोधी शास्त्री भी आए नजर

समारोह में पूर्व सांसद भानुकुमार शास्त्री की मौजूदगी चर्चा का विषय रही। शास्त्री को कटारिया विरोधी गुट से माना जाता रहा है, लेकिन कृपलानी उनके काफी करीब हैं। कृपलानी ने उनसे काफी देर बातचीत भी की। इस मौके पर उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, यूआईटी अध्यक्ष रवीन्द्र श्रीेमाली, नगर निगम महापौर चन्द्रसिंह कोठारी तथा यूआईटी सचिव रामनिवास मेहता भी मौजूद थे।