वाइस ऑफ यूनिटी में जुटा राजसमंद, गूंजा वंदे मातरम् 

सबगुरु न्यूज़ उदयपुर। राजसमंद में सोमवार को वाइस ऑफ यूनिटी का नाद गूंजा। सांसद हरिओमसिंह राठौड़ की पहल पर हुए इस आयोजन में मानो पूरा राजसमंद उमड़ पड़ा। हजारों की संख्या में बच्चे बड़े इस आयोजन का हिस्सा बनने पहुंचे। चहुंओर देशभक्ति का ज्वार नजर आया।

कार्यक्रम में पूर्व सैनिकों की टोली भी मौजूद थी। इस मौके पर सांसद राठौड़ ने स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की और सैनिको, पूर्व सैनिकों और राजसमंद जिले के लोगों का आभार जताया।
उन्होंने कार्यक्रम की पृष्ठभूमि, महाराणा प्रताप, शौर्य पराक्रम की भूमि का यशोगान किया और कहा कि वाइस ऑफ यूनिटी देशभक्ति और भारतीयता का महोत्सव है। सांसद ने पीएम मोदी के संकल्प का जिक्र किया और कहा कि राष्ट्रीयता का जज़्बा पैदा करने में यह कार्यक्रम सफल रहा है।
कार्यक्रम में शुभि ने आनन्द मठ के गीत वंदेमातरम् की मधुर सांगीतिक प्रस्तुति दी। द्वारकाधीश मंदिर के वागीश बाबा ने भारतीय संस्कृति और भारतमाता को विश्व भर में श्रेष्ठ बताया। उन्होंने सवा सौ करोड़ भारतीयों से आह्वान किया कि भारतमाता को वंदन करते हुए विश्व भर में भारत के गौरव को स्थापित करने का प्रयास करें। उन्होंने भारतमाता की सेवा और राष्ट्रधर्म में जुटने और संस्कृति के लिए घातक तत्वों को मुहंतोड़ जवाब देने के लिए सदैव तैयार रहने का आह्वान किया।
उन्होंने इस आयोजन को ऐतिहासिक बताया और कहा कि सांसद ने इस आयोजन से राजसमंद जिले को प्रदेश और देश में नई गौरवशाली पहचान दी है। मुख्य अतिथि नाथद्वारा तिलकायत के पुत्र विशाल बाबा ने आयोजकों को बधाई दी। विशाल बाबा ने राजस्थान की महिमा, भक्ति परंपरा और श्रीमद भागवत की चर्चा की और सभी से कहा कि श्रीकृष्ण के कर्मयोग का अवलंबन करें और हर कार्य कुशलता से करें।
उन्होंने योग: कर्मसु कौशलम की व्याख्या की और कहा कि जिस किसी क्षेत्र में हों वह कर्म को अपना धर्म और फर्ज मानें, उसके प्रति सम्पूर्ण समर्पण भाव से काम करें। विशाल बाबा ने सभी को शपथ दिलाई। अंत में आभार महावीर चपलोत ने दिया।
समारोह में पूर्व मंत्री एवं कुम्भलगढ़ विधायक सुरेन्द्रसिंह राठौड़, जिला प्रमुख प्रवेशकुमार सालवी, सभापति सुरेश पालीवाल, प्रधान गण, धीरज पुरोहित सहित जनप्रतिनिधिगण, अधिकारीगण भी उपस्थित थे।