शहीद राजेश कपूरिया की देह बुधवार को झुंझुनू लाई जाएगी

345_05_14_32_राजेशझुंझुनू। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार शाम नक्सली हमले में राजस्थान के झुंझुनू जिले के फतेहसरी (देवगांवए नूआं) गांव का लाडला राजेश कपूरिया शहीद हो गया। शहीद की पार्थिव देह बुधवार तक उनके पैतृक गांव लाया जाएगा। जहां श्रद्धांजलि देने के बाद राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। रिटायर्ड फौजी बिरजूसिंह के पुत्र राजेश कपूरिया केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में सहायक कमांडेंट थे।

शहीद के भाई सुभाष कपूरिया ने बताया कि उनकी पत्नी सुमन गृहिणी हैं। उनके दो बेटी तथा एक बेटा है। पत्नी तीनों बच्चों के साथ अजमेर रहती हैं। सुभाष ने बताया कि दीपावली के बाद राजेश गांव आए थे। कुछ दिन गांव रहकर लौट गए थे। राजेश जब भी छुट्टी आते थे परिवार को अजमेर से साथ लेकर आते थे।
केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल एडीजीपी ;नक्सल ऑपरेशनद्ध आरके विज के मुताबिक छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चिंतागुफा इलाके में 100 से ज्यादा नक्सलियों ने केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के दस्ते पर हमला कर दिया। उप कमांडेंट डीएस वर्मा और सहायक कमांडेंट राजेश कपूरिया समेत 13 जवान शहीद हुए। 15 अन्य जवान घायल हो गए। घायलों में तीन की हालत गंभीर है। सभी जवान 223वीं बटालियन के थे।

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल का दस्ता अन्य सुरक्षाकर्मियों के साथ शनिवार सुबह एरिया डोमिनेशन के लिए निकला था। कसलपाड के जंगलों से होकर 120 जवानों की टुकड़ी लौट रही थी। तभी पेड़ों पर घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने हमला कर दिया। सुरक्षाकर्मियों पर अंधाधुंध गोलीबारी की। जवानों को संभलने का मौका भी नहीं मिला। हमले में महिला नक्सली भी शामिल थीं।