Tuesday , 16 October 2018

दुर्ग में फावड़ा लेकर खुद सडक़ पर उतरे विधायक अरुण वोरा

पोटिया-बोरसी सडक़ निर्माण में विलंब से नाराज विधायक अरुण वोरा ने वार्डवासियों के साथ सांकेतिक श्रमदान किया।
पोटिया-बोरसी सडक़ निर्माण में विलंब से नाराज विधायक अरुण वोरा ने वार्डवासियों के साथ सांकेतिक श्रमदान किया।

दुर्ग। पोटिया-बोरसी सडक़ निर्माण में विलंब से नाराज विधायक अरुण वोरा ने सोमवार को सडक़ निर्माण के लिए वार्डवासियों के साथ सांकेतिक श्रमदान कर शासन व प्रशासन की निष्क्रियता को जनता के सामने उजागर किया।

श्रमदान के लिए विधायक श्री वोरा फावड़ा लेकर सडक़ पर उतरे थे। यह खबर आसपास के वार्डो में आग की तरह फैली। जिसके बाद मौके पर जुटे वार्डवासियों ने साथी हाथ बढ़ाओं साथी रे की तर्ज पर सडक़ निर्माण में अपना योगदान दिया।

श्रमदान के दौरान वार्डवासियों में भारी आक्रोश था।फलस्वरुप उन्होने शासन- प्रशासन विरोधी नारेबाजी कर सडक़ निर्माण में हो रहे विलंब पर जोरदार आक्रोश जताया।

वार्डवासियों का कहना था कि पोटिया-बोरसी सडक़ में जिला प्रशासन द्वारा जब तक निर्माण कार्य शुरु नहीं करवाया जाएगा, तब तक उनका यह श्रमदान का आंदोलन विधायक अरुण वोरा के नेतृत्व में जारी रहेगा।

चर्चा में विधायक अरुण वोरा ने कहा कि श्रमदान का यह आंदोलन वार्डवासियों का शासन व प्रशासन के खिलाफ आक्रोश का नतीजा है।

4 करोड़ 29 लाख 21 हजार की लागत से बनने वाला पोटिया-बोरसी मार्ग के निर्माण के लिए 6 माह पूर्व जिला प्रभारी मंत्री राजेश मूणत द्वारा भूमिपूजन किया गया था। लेकिन आज तक निर्माण कार्य को गति नहीं मिल पाई है।

निर्माण के अभाव में सडक़ जर्जर हो चुका है। जिस पर आवागमन लगातार दुर्घटनाओं का कारण बन रहा है। जिसके लिए शासन, प्रशासन व स्थानीय पीडब्ल्यूडी विभाग सीधे-सीधे जिम्मेदार है।

वोरा ने कहा है कि सडक़ निर्माण की प्रतीक्षा का अब वार्डवासियों के सब्र का बांध टूट चुका है। इसलिए वार्डवासियों ने सडक़ निर्माण के लिए श्रमदान कर शासन-प्रशासन को आईना दिखाने का संकल्प लिया है।

वोरा ने कहा कि शासन- प्रशासन की ढिलाई अब बर्दाश्त के बाहर हैं और वार्डवासियों को राहत पहुंचाए।

वोरा का शासन- प्रशासन को स्पष्ट शब्दों में कहना था कि पोटिया- बोरसी सडक़ निर्माण के लिए कांग्रेस ने पहले भी सडक़ की लड़ाई लड़ी गई थी। जिसके परिणामस्वरुप सडक़ निर्माण कार्य को शासन ने स्वीकृति प्रदान की थी, लेकिन अब सडक़ निर्माण कार्य में विलंब वार्डवासियों के लिए बड़ी समस्या बनी हुई है।

6 माह हो गए लेकिन निर्माण कार्य शुरु नहीं किया गया है। वोरा ने कहा है कि सडक़ निर्माण कार्य जल्द शुरु नहीं किया गया तो कांग्रेसी फिर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।