हाथ धुलाई में मध्यप्रदेश ने रचा विश्व कीर्तिमान

handwashing Day
madhya pradesh makes world record for largest mass handwashing Day

भोपाल। विश्व हाथ धुलाई दिवस पर मध्यप्रदेश के स्कूली बच्चों ने नया विश्व कीर्तिमान रच दिया है। हाथ धुलाई का वर्तमान विश्व रिकार्ड अर्जेन्टीना, पेरू और मेक्सिको के नाम है। इन तीन देश में गत 14 अक्टूबर 2011 को अलग-अलग स्थान पर एक साथ 740870 लोगों ने हाथ धोकर गिनीज बुक में कीर्तिमान स्थापित किया था।…

मध्यप्रदेश एक मात्र राज्य है जिसने इन तीन देश द्वारा बनाए गए विश्व कीर्तिमान को बुधवार को पीछे छोड़ दिया। आधिकारिक जानकारी के अनुसार शाम तक राज्य के 14 हजार 429 शासकीय स्कूल के 13 लाख 46 हजार 45 बच्चों द्वारा एक साथ हाथ धुलाई अभियान में भागीदारी करने की अधिकृत सूचना दर्ज हो चुकी थी।

 

प्रदेश के विभिन्न स्कूल से जानकारी के संकलन का काम अभी जारी है। करीब 5 हजार स्कूल से विवरण प्राप्त होना बाकी है। बुधवार 15 अ क्टूबर को मध्यप्रदेश की 19 हजार 735 शालाओं में वृहद हाथ धुलाई कार्यक्रम में सुबह 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक लाखों स्कूली बच्चों ने एक साथ भागीदारी कर नया विश्व कीर्तिमान रचा।

 

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्टेशन क्षेत्र भोपाल स्थित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में सुबह राज्य स्तरीय हाथ धुलाई कार्यक्रम का शुभारंभ किया। यह कार्यक्रम पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा जिला प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव की अध्यक्षता महिला बाल विकास मंत्री मायासिंह और स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी के विशेष आतिथ्य में हुआ।

 

अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अरूणा शर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश की सभी 1 लाख 14 हजार शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक शाला और 80 हजार से आधिक आंगनवाड़ी में साबुन से हाथ धुलाई का कार्यक्रम हुआ।

 

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकार्ड के सत्यापन के लिए विशेषरूप से चयनित प्रदेश के 19 हजार 735 स्कूल में वीडियो केमरों तथा मोबाइल फोन केमरों के द्वारा वीडियोग्राफी की गई। शर्मा ने बताया कि इस आयोजन में भागीदार सभी बच्चों के नाम सहित प्रमाणित विवरण और स्कूलवार अनकट वीडियोग्राफी गिनीज बुक की ओर विधिवत प्रक्रिया द्वारा भेजी जाएगी। गिनीज बुक द्वारा इस प्रमाणित विवरण के आधार पर विश्व हाथ धुलाई के नए कीर्तिमान की अधिकृत घोषणा शीघ्र कर दी जाएगी।