राहुल गांधी के क्षेत्र में खून को तरसते लोग!

rahul
नई दिल्ली। राहुल गांधी के लोकसभा क्षेत्र में पडने वाले अमेठी जिले में मुसीबत में किसी केा खून की जरूरत पड जाए तो उसे दूसरे जिलों में जाना पड सकता है। अमेठी जिले में एक भी ब्लड बैंक नहीं है। लोकसभा में शुक्रवार को पूछे गए एक सवाल के जवाब में इस बात का खुलासा हुआ है। अमेठी कांगे्रस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा क्षेत्र है।
संसद में शुक्रवार को पूछे गए एक सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्रीपद नाईक ने बताया कि देश में ब्लड बैंक की कमी नहीं है। भारत में 2708 ब्लड बैंक है। इनसे देश के विभिन्न इलाकों में खून की मांग की पूर्ति हो रही है। इस सवाल के जवाब में ही यह सामने आया कि उत्तर-प्रदेश का अमेठी देश के उन 81 जिलों में से एक है, जहां ब्लड बैंक नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी साल 2004 से अमेठी लोकसभा क्षेत्र से सांसद है। साल 1967 से अब तक सिर्फ दो बार अमेठी से गैर-कांग्रेसी उम्मीदवार निर्वाचित हुआ है, इसके अलावा यहां पर गांधी परिवार का ही कब्जा रहा है। इससे पहले संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी अमेठी से सांसद रहे हैं। गांधी परिवार की पारंपरिक लोकसभा सीट अमेठी में ब्लड बैंक नहीं होने पर भाजपा ने गांधी परिवार को आड़े हाथों लिया है। बीजेपी के प्रवक्ता सोनकर शास्त्री ने कहा कि ब्लड बैंक जैसी बुनियादी स्वास्थ्य सुविधा को लेकर सांसद की अनदेखी गांधी परिवार के इस देश की आम जनता को लेकर सोच को जाहिर करती है। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार के चार-चार सदस्य पिछले कई दशकों से अमेठी से सांसद चुनकर आ रहे हैं, फिर भी वो अमेठी के गरीब लोगों के लिए एक ब्लड बैंक की सुविधा उपलब्ध नहीं करवा सकें, जो दुखद है।