जयापुर के बाशिंदों को भी दीवाना बना गए मोदी

pm modi Adopted  Jayapur village at varanasi  in uttar pradesh
pm modi Adopted Jayapur village at varanasi in uttar pradesh

वाराणसी। अपने अनूठे अंदाज से देश दुनिया में विशिष्ट पहचान रखने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जयापुर गांव के लोगों को भी अपना दीवाना बना गए। वाराणसी के सासंद मोदी शुक्रवार को जयापुर गांव को गोद लेने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। अपने संबोधन के दौरान छोटे कद की ग्राम प्रधान दुर्गा देवी की आवाज माइक ऊंचा होने के कारण स्पष्ट सुनाई नही दे रही थी। मोदी ने खुद उठकर माइक दुरूस्त किया और दुर्गादेवी समेत समूचे गांव को अपना कायल बना लिया।…

इस अवसर पर मोदी ने कहा कि ग्राम प्रधान आत्मविश्वास से लबरेज है और इस खूबी की वह प्रशंसा करते हैं। कार्यक्रम के बाद ग्राम प्रधान मोदी की तारीफ में कसीदे गढते नहीं थक रहीं थी जबकि गांव के लोग मोदी के अनूठे अंदाज से भावविभोर थे।

परदा तो थोड़ा खोलो, हवा आने दो

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ठहाकों के बीच सुरक्षाकर्मियों से कहना पड़ा कि पण्डाल का जरा परदा तो खोलो। हुआ यूं कि जब प्रधानमंत्री बोलने के लिए खड़े हुए तो उन्हें पण्डाल में अजीब सा अंधेरा एवं घुटन महसूस हुई। सुरक्षा कारणों से पण्डाल पूरी तरह बन्द था। उन्होंने सुरक्षाकर्मियों से कहा कि परदा तो थोड़ा खोलो, हवा आए, हमें दिख नहीं रहा है। अन्दर बैठे लोगों को थोड़ी हवा मिल जाए ..। उन्होंने कहा कि उनकी सुरक्षा को लेकर सुरक्षाकर्मी तनाव में रहते हैं।

pm modi Adopted  Jayapur village at varanasi  in uttar pradeshहस्तशिल्प प्रदर्शनी का उदघाटन

इससे पूर्व मोदी ने वहां पर लगी हस्तशिल्प प्रदर्शनी का उदघाटन किया। प्रदर्शनी में बनारसी साड़ी, लकड़ी के खिलौने, टेराकोटा, जरदोजी, बनारस की गुलाबी कालीन समेत हस्तशिल्प के अन्य सामान प्रदर्शित किए गए हैं। प्रदर्शनी में मोदी ने कलाकारों से बात भी की। उनकी समस्याओं को सुना। कार्यक्रम में उपस्थित केन्द्रीय कपड़ा राज्यमंत्री संतोष कुमार गंगवार ने कहा कि वस्त्रोद्योग को बढ़ावा देने के लिए देश मे 14 टेक्सटाइल पार्क बनाए जाएंगे और एक टेक्सटाइल पार्क खोलने पर 40 करोड़ रूपए खर्च होगा।