इस तरह पेट्रोल से बचाए पॉकेट

 

  • पेट्रोल के बढ़ते रेट पर तो आपका कोई बस नहीं है, लेकिन यूज पर जरूर है।

    अगर मौजूदा पेट्रोल हाइक ने आपका भी बजट बिगाड़ दिया है, तो इन टिप्स को फॉलो करें। जेब को कुछ तो राहत जरूर मिलेगी :

    अपने मैकेनिक से फ्यूल सेवर डिवाइस के बारे में पूछें। यह डिवाइस 20 प्रतिशत तक फ्यूल बचाता है और इंजन का पॉवर भी बढ़ाता है।

  • हो सकता है कि बाइक या कार को हवा से बातें कराना आपका शगल हो, लेकिन यह आपकी जेब की सेहत के लिए कतई अच्छा नहीं है। बेहतर होगा कि आप 45 से 55 की स्पीड में ड्राइव करें। रिसर्च में भी प्रूव हो चुका है कि इससे आपकी गाड़ी ज्यादा माइलेज देगी। रोड पर आपकी और दूसरे लोगों की लाइफ सेफ रहेगी वो अलग!
  • क्या कहा गाड़ी का इंजन चेक कराए हुए लंबा अरसा हो गया? तो अब गाड़ी की नहीं, बल्कि अपनी जेब की सेहत की खातिर ही सर्विस सेंटर हो आएं। दरअसल, इंजन में प्रॉब्लम होने की वजह से गाड़ी में न सिर्फ ज्यादा पेट्रोल फूंकता है, बल्कि इसके काला धुआं देने की वजह से आस-पास वालों से पंगा होने का भी चांस रहता है।
  • मनमर्जी गियर में ड्राइव करना कोई बहादुरी का काम नहीं है। गाड़ी के साथ-साथ अपनी जेब पर भी रहम खाइए। पेट्रोल के रेट में 10 परसेंट का ही हाइक हुआ है, लेकिन सही गियर में गाड़ी चलाकर आप 20 परसेंट पेट्रोल की सेविंग कर सकते हैं। इस मामले में आप सर्विस सेंटर से भी मदद ले सकते हैं।
  • यकीन मानिए, ट्रैफिक लाइट पर गाड़ी का इंजन बंद करने से आपकी शान जरा भी कम नहीं होगी। इससे न सिर्फ आपका पेट्रोल कम खर्च होगा, बल्कि बैटरी और सेल्फ स्टार्ट का भी भला होगा। साथ ही, बराबर वाले आपको स्मार्ट कहेंगे, वो अलग!
  • अपनी सोच बदलिए कि कार पूल से सोसायटी में आपकी रेपुटेशन डाउन हो जाएगी! फिर अपने ऑफिस और कॉलोनी के दूसरे साथियों का ही ख्याल कर लीजिए, जो पेट्रोल बम से बेहाल हो गए हैं। अगर आप अपनी गाड़ी में दो-चार साथियों को पूल फैसिलिटी देंगे, तो वे न सिर्फ आपको दुआ देंगे, बल्कि दूसरी जगह तारीफ करके आपकी रेपुटेशन ही बढ़ाएंगे।
  • जीपीएस के जमाने में भी रास्ता भटककर कई किलोमीटर एक्स्ट्रा गाड़ी चला लेते हैं, तो इससे बदतर कुछ नहीं हो सकता। पेट्रोल हाइक का मुकाबला करने के लिए घर से निकलने से पहले अपना रूट प्लान करके निकलें। इससे न सिर्फ कम पेट्रोल और टाइम खर्च करके आप अपने डेस्टिनेशन पहुंचेंगे, बल्कि रास्ता पूछने की जहमत भी नहीं उठानी पड़ेगी।
  • ट्रैफिक अलर्ट सब्सक्राइव करें या फिर एमएम रेडियो के ट्रैफिक अलर्ट पर कान लगा कर रखें। जाम से बचेंगे, तो पेट्रोल भी बचेगा।