इच्छा शक्ति से हर कार्य सम्भव : अनिता भदेल

state minister anita bhadel addressing clean ajmer green ajmer project volunteers

अजमेर। यदि व्यक्ति में इच्छाशक्ति हो और काम करने का प्रण हो तो कोई चीज असम्भव नहीं होती वह उसे प्राप्त कर सकता है। हम मिलकर छोटे छोटे काम करेंगे तभी वह बड़ा काम कहलाएगा ये कहना था महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनिता भदेल का। भदेल रविवार को द सोसायटी ऑफ यूनिक अजमेर के द्वारा क्लीन ग्रीन यूनिक अजमेर के 5वें चरण के दौरान अम्बेडकर सर्किल पर चलाए जा रहे सफाई अभियान में शामिल हुई तथा उन्होंने स्वयं श्रमदान किया।…


इस अभियान में अजमेर ऑटो एजेन्सीज व होड़ा, मारूती के लगभग 60 से अधिक कार्मिकों ने अपने हाथों में झाड़ू, पेन्ट, ब्रश लेकर चौराहे के सौन्दर्यकरण में हाथ बंटाया। अजमेर ऑटो एजेन्सीज के संचालक सर्वेश्वर सहगल ने कहा कि यूनिक अजमेर यह श्रमदान कर शहर को सुन्दर बनाने में योगदान कर रही है और हम अम्बेडकर सर्किल का नियमित रख-रखाव का कार्य करेंगे, इस सर्किल के फव्वारे जल्द ही शुरू होकर शहर की सुन्दरता बढ़ाएंगे।


ajmer

नगर निगम के सी.ई.ओ सीआर मीणा ने कहा कि यूनिक संस्था जो कार्य कर रही है वह प्रशंसनिय है तथा श्रमदान में हर बार लोग बढ़ते ही जा रहे हैं। नगर निगम ऐसी संस्थाओं को हर सम्भव मदद करने को तैयार रहेगी।


प्रोजेक्ट चैयरमैन जेके शर्मा ने कहा कि 28 सितम्बर को बजरंगढ़ चौराहे से द सोसायटी ऑफ युनिक का सफाई वाला सफर शुरू हुआ जो आज 5वें चरण को सम्पन्न कर अगले चरण की ओर अग्रसर हो रहा है। यूनिक अध्यक्ष कंवल प्रकाश किशनानी ने कहा कि शहर को हरा भरा स्वच्छ और सुन्दर बनाए रखने के लिए संस्था बीड़ा उठाया है दो माह में 5 चौराहे साफ सुथरे होकर जगमगा रहे हैं। उन्होंने अपील की कि आओ मिलकर कुछ कर दिखाएं।


रविवार का दिन सुबह 8 बजे बस स्टेण्ड स्थित अम्बेडकर सर्किल पर द सोसायटी ऑफ यूनिक के सदस्यों ने वॉलियन्टर्स के साथ मिलकर चौराहे के सौन्दर्यकरण का बीड़ा क्या उठाया कुछ ही घण्टों में चौराहा चमचमा उठा। अम्बेडकर सर्किल की कुछ ही घन्टों में पूरी तरह से दशा बदल दी गई।


सोसायटी के सदस्य अपने सहयोगियों के साथ हाथों में झाडू डस्टर, ब्रश और फावडे़ लेकर चौराहे की दशा बदलने में जुट गए। सफेद टी-शर्ट और नीली जींस पहने करीब 40 से अधिक यूनिक सदस्य और अजमेर ऑटो एजेन्सी में कार्यरत युवा तेजी से साफ-सफाई के काम पर लग गये। देखते ही देखते सर्किल और उसके आस पास कलेक्ट्रेट परिसर की दीवारें, सड़क का फुटपाथ, डिवाईडर के बीच यातायात लाईने सभी कुछ, कुछ घण्टों में निखर गया। संविधान निर्माता बाबा डॉ भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा को दौबारा से रंगरोगन कर निखारा गया। वहीं सर्किल के अन्दर गंदगी को हटाया गया।


अब सोसायटी के सचिव राजेश बंसल ने बताया कि आगामी 17 नवम्बर को छटा चरण रामकृष्ण परमहंस सर्किल अजमेर क्लब, फायर ब्रिगेड के पास सम्पन्न होगा। जो भी इस अभियान से जुड़ने के इच्छुक हैं वे सुबह 10 बजे से 12 बजे तक स्वामी कॉम्प्लेक्स के नीचे द सोसायटी ऑफ युनिक के समक्ष पंजीकरण करा सकते हैं।


आज श्रमदान में नीरज आर्य, आनन्द शर्मा, कुलदीप खन्ना, जयेश गांधी, दीपक अग्रवाल, जी.के अग्रवाल, मंजीत सिंह, ईसर भंभानी, अरूण अरोड़ा, दिनेश गर्ग, उमेश गर्ग, सुभाश खंडेलवाल, एन.के.उपाध्याय, महेश लखन, रंजन शर्मा, महेशचन्द गुप्ता, राजवीर कुमावत, आशीष पुरी, कनिका, दिनेश जादम, वर्तिका सिंघल, पतांजलि योग, विवेकानन्द केन्द्र, रोटरी कल्ब व अन्य कई संस्थाओं के स्वयं सेवक उपस्थित थे।