बचपन के दिनों की यादों में खो गए पीएम मोदी

PM Narendra modi
stay at railway guest house makes PM Narendra modi emotional, nostalgic

वाराणसी। पीएम नरेन्द्र मोदी अपनी दो दिन की वाराणसी यात्रा के दौरान डीजल लोकोमोटिव वर्क्स (डीएलडब्ल्यू) परिसर में ठहरे। यहां ठहरकर उनके बचपन की यादें ताजा हो गईं।…

अपनी यात्रा के समापन पर आगुंतक पुस्तिका में उन्होंने टिप्पणी की कि डीएलडब्ल्यू में प्रवास के दौरान बचपन की उनकी यादें ताजा हो गईं, जब रेल और रेलवे स्टेशनों के साथ उनका गहरा संबंध था।

प्रधानमंत्री ने यात्रियों और रेल के डिब्बों की यादों के बारे में बताया और कहा कि उनके लिए यह कैसा भावुक अनुभव था।

मोदी ने डीएलडब्ल्यू के कर्मयोगियों को धन्यवाद दिया और कहा कि वे अब यहां आते रहेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि बचपन की यादों से नए संक ल्प और नई संभावनाओं की राह मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मां गंगा के प्रेम और आशीर्वाद से हमारा देश और हमारे विचार निर्मल बनें। प्रधानमंत्री की लेखनी का मूल हिन्दी पाठ निम्न है-

“बचपन से ही मेरा नाता रेलवे से रहा, रेलवे स्टेशन से रहा, रेल के डिब्बे से रहा।

कल से मैं यहीं डीएलडब्ल्यू के परिसर में ठहरा हूं।

चारों तरफ रेलवे के माहौल ने मुझे मेरे बचपन से जोड़ दिया।

शायद पहली बार

पूरा समय बचपन,

वो रेल के डिब्बे, वो यात्री, सबकुछ

मेरी आंखों के सामने जिंदा हो गया।

वे यादें बहुत ही भावुक थीं।

यहां सबका अपनापन बहुत भाया।

सभी कर्मयोगी भाइयों को धन्यवाद।

अब तो मुझे बार बार यहां आना होगा।

फिर बचपन की स्मृतियों के साथ

नए संकल्प, संभावनाएं बनेंगी।

मां गंगा का प्यार और आशीर्वाद

हमारे देश को निर्मल बनाए,

हमारी सोच को निर्मल बनाए

यही प्रार्थना।

(नरेन्द्र मोदी) 8.11.2014