विकासशील देशों में सुंदरता की परिभाषा अजीब है : जोया

The definition of beauty in the developing world is strange: Joa

The definition of beauty in the developing world is strange: Joa

मुंबई : आगामी फिल्म ‘मुक्केबाज’ में नायिका बनीं नवोदित अभिनेत्री जोया हुसैन का कहना है कि भारत जैसे विकासशील देशों में सुंदरता की परिभाषा अजीब है। लोग आजकल अपने लुक को लेकर काफी जागरूक हैं, यहां तक कि अभिनेता -विशेष रूप से नवोदित लोग- यह सुनिश्चित करने के लिए कुछ भी कर रहे हैं कि वे न केवल पर्दे पर अच्छा दिखें, बल्कि सार्वजनिक मंचों पर भी बेहतरीन दिखें। इस वर्ष अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा दो वर्ष के अंतराल बाद वजन कम कर सामने आईं।

इस बारे में जोया ने कहा, “ईमानदारी से, सुंदरता की परिभाषा गड़बड़ है, खासकर भारत जैसे विकासशील देशों में। सतहीपन बेशक यूरोपीय देशों में भी है, लेकिन वे दोनों का समान रूप से सम्मान करते हैं।”

उन्होंने कहा, “यहां (भारत में), यदि कोई व्यक्ति पतला, गोरा नहीं है और निर्धारित मानकों के अनुरूप नहीं है, तो उसे सराहा नहीं जाता। मुझे लगता है कि यह गलत है।”

इन जगहों पर मजा तो बहुत है पर जान का खतरा भी है

अभिनेत्री का मानना है कि पतला होना फिट होने का प्रतीक नहीं है।

पापा को मत बताना एक छोटी मासूम सी बच्ची की चुलबुली रिक्वेस्ट

जोया की फिल्म ‘मुक्केबाज’ 12 जनवरी को रिलीज होगी। यह अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित है।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए,  और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News