चोरी की कारों को बेचने का मास्टरमाइंड निकला कांग्रेस का हाइप्रोफाइल नेता यदुनाथ

congress leader Yadunath Singh tomar arrested by stf
congress leader Yadunath Singh tomar arrested by stf

ग्वालियर। पॉश कॉलोनी बसंत विहार में आलीशान मकान और टाटा सफारी, होंडा सिटी जैसी लग्जरी कारों से घूमना। लोग कांग्रेस नेता यदुनाथ सिंह तोमर को एक बड़ा आदमी समझते थे। पूर्व प्रतिपक्ष के नेता अजय सिंह के साथ वह रहता था। ऐसा नेता चोरी की कारों को बेचने वाला मास्टर माइंड निकलेगा, यह पुलिस ने भी नहीं सोचा था।

मथुरा पुलिस ने ग्वालियर की क्राइम ब्रांच को सूचना दी कि ग्वालियर में एक कांग्रेस का नेता यदुनाथ सिंह चोरी की कारों को बेचने का काम करता है। पहले तो पुलिस को विश्वास नहीं हुआ, लेकिन जब यदुनाथ सिंह के घर पर छापा मारा तो उसके पास से टाटा सफारी जैसी दो लग्जरी कारें मिल गईं। यदुनाथ सिंह ने बड़ा कांग्रेस का नेता बताते हुए पुलिस पर रौब जमाने की कोशिश की, लेकिन जब पुलिस ने सबूत पेश किए तो पूरी हेकड़ी निकल गई।

यूपी एसटीएफ के हत्थे चढ़े कांग्रेस नेता यदुनाथ सिंह तोमर के रैकेट ने चोरी की पांच गाड़ियां कबूल की है। उसने तीन गाड़ियां पुलिस को बरामद भी करा दी है। जबकि नेता को रवाना कर पुलिस ने उसके बेटे को हिरासत में बैठा रखा है। पुलिस को इस रैकेट में नेता के ड्राइवर की सरगर्मी से तलाश है।

यूपी एसटीएफ ने मथुरा में वाहन चोरी के एक बड़े रैकेट को ट्रेप किया था। इसमें गिरोह ने ग्वालियर के कांग्रेस नेता यदुनाथ सिंह तोमर का नाम भी लिया था। यूपी एसटीएफ की टीम ने ग्वालियर स्थित सिटी सेंटर में रेड कर के यदुनाथ सिंह तोमर के बेटे भानुप्रताप को हिरासत में ले लिया था। इसके बाद उसे छुड़ाने पहुंचे नेता को भी पकड़ लिया था।

पुलिस सूत्रों की माने तो रैकेट में मास्टर माइंड नेता का ड्राइवर अजय शर्मा ही है। इसकी तलाश में पुलिस ने उसके हजीरा स्थित घर पर भी दबिश दी। जबकि अजय का कोई सुराग ही नही लगा। पुलिस को नेता के पास से अजय की दी हुई दो सफारी व एक डस्टर कार बारमद होने की खबर है। बताया गया कि सुबह एसटीएफ ने यदुनाथ सिंह को रवाना कर उसके बेटे भानु को हिरासत में ले लिया। इसके बाद पुलिस उसे लेकर अजय की तलाश में जुटी है।

अजय थाने के बाहर से भागा

बताया गया कि जब एसटीएफ ने नेता के बेटे भानु को एनएसयूआई के प्रोग्राम में से उठाया तब उसके पिता के साथ अजय भी थाने पहुंचा था। यहां जैसे ही भनक लगी कि भानु को गाड़ी चोरी के मामले में बैठाया है तो अजय पड़ाव थाने के सामने से ही भाग गया।

होटल में डील

पुलिस के मुताबिक थाने से निकललने के बाद नेता यदुनाथ सिंह सीधे कटोराताल पहुंचे। यहां जाने के बाद उन्होने एक होटल में तीन लोगो के साथ अकेले में बात भी की। उनके पीछे यूपी एसटीएफ की टीम भी नजर रखे हुए थी। 15 मिनट बैठने के बाद नेता वहां से अपनी प्राइवेट गाड़ी से निकल गए।

दोनों टीमों ने मिलकर किया काम

मथुरा से क्राइम ब्रांच पुलिस ग्वालियर आई, यहां पर पुलिस कप्तान से सहयोग मांगा गया। जिस पर यहां की क्राइम ब्रांच ने सहयोग करते हुए यदुनाथ सिंह तोमर को उनके घर से उठा लिया और उनके कब्जे से चोरी की एक सफारी व इंडिका गाड़ी बरामद कर ली है। इन दोनों गाड़ियों पर फर्जी नंबर प्लेट लगी हुई थी। अपराध थाना में यदुनाथ तोमर से पूछताछ की गई,जिस पर उन्होंने अन्य चोरी की गाड़ियों की जानकारी दी है। पुलिस ने रात में ही टीमें बनाकर चोरी की गाड़ियों को बरामद करने के लिए भेज दिया है।

ऐसे बेचता था यदुनाथ सिंह कारें

मथुरा पुलिस ने कुछ दिन पहले एक कार चोर गिरोह को पकड़ा था। उनसे ही जानकारी मिली, कि ग्वालियर में यदुनाथ सिंह तोमर उनकी कारों को बाजार में खपाने का काम करता है। इन कार चोरों से जानकारी मिली थी कि यदुनाथ सिंह ने चोरी की कई कारें बाजार में बेची हैं। यदुनाथ सिंह चोरी की कारें भी वही बेचता था, जो मुश्किल से छह महीने पुरानी होती थीं। कारें भी टाटा सफारी, स्फ्विट डिजायर यानि सेडान और एसयूव्ही कारें ही वह खपाता था।

कांग्रेस के बड़े नेताओं से संपर्क

यदुनाथ सिंह कांग्रेस के दिवगंत नेता अर्जुन सिंह खेमे से जुडा हुआ है और अब उनके पुत्र अजय सिंह के साथ कई कार्यक्रमों में रहता है। अजय सिंह के नाम पर ही वह ग्वालियर-चंबल में राजनीति करता आ रहा है और लग्जरी कारों से घूमता था।

बिहार से खरीदी थी दो गाडियां

पकड़े जाने पर यदुनाथ ने कहा कि उसने टाटा सफारी दो साल पहले बिहार से खरीदी थी और उसे अपने नाम ट्रांसफर करा लिया था।

यदुनाथ सिंह कांग्रेस नेता

मथुरा पुलिस के मुताबिक कांग्रेस नेता की वाहन चोरी रैकेट में भूमिका है। अभी रात तक तीन गाड़ियां बरामद हुई थी। पूरी कार्रवाई यूपी पुलिस की है, हमसे जो मदद मांगी गई थी वो हमने दे दी।

हरि नारायणाचारी मिश्रा, एसपी, ग्वालियर