राम रहीम को सजा का ऐलान आज, सिरसा में सेना की 4 और टुकड़ियां तैनात

Dera violence: More army columns deployed in Sirsa ahead of sentencing
Dera violence: More army columns deployed in Sirsa ahead of sentencing

नई दिल्ली। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को रेप का दोषी करार दिए जाने के बाद भड़की हिंसा के दो दिनों बाद राज्य के सिरसा में सेना की चार और टुकड़ियों की तैनाती कर दी गई। रोहतक में तैनात जवानों को संदिग्ध गतिविधि पर असामाजिक तत्वों को गोली मारने के निर्देश दिए गए हैं। राम रहीम को सोमवार को दुष्कर्म मामले में सजा सुनाई जानी है।

राम रहीम को सजा का ऐलान सोमवार को दोपहर ढाई बजे करीब होगा। डेरा प्रमुख पर लगी तीन धाराओं में प्रमुख धारा रेप की है। इसमें न्यूनतम सात साल की सजा और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा है। सीबीआई के विशेष जज जगदीप सिंह हेलीकॉप्टर में पंचकूला से रोहतक में स्थित सुनारिया जेल पहुंचेंगे, जहां विशेष अदालत लगाई जानी है।

जेल परिसर की सुरक्षा कड़ी करते हुए रोहतक में अर्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात की गई हैं। सेना स्टैंड बाई पर रहेगी, जबकि पूरे जोन के अलावा प्रदेश के दूसरे स्थानों से बुलाए गए पुलिस अधिकारी और जवान भी मोर्चा संभाले रहेंगे।

तो हाईकोर्ट में करनी होगी अपील

तीन साल से कम सजा होने पर सीबीआई जज को जमानत पर छोड़ने का अधिकार है। इससे अधिक सजा की स्थिति में ऑर्डर मिलते ही दोषी जमानत के लिए हाई कोर्ट में आवेदन कर सकता है। चूंकि रेप केस में न्यूनतम 7 साल की सजा निर्धारित है, इसलिए राम रहीम के पास जमानत के लिए हाई कोर्ट में अपील करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं। हाई कोर्ट के फैसले तक उसे जेल में ही रहना होगा।

सेना की टुकड़ियों की संख्या 12 हो गई

सेना के एक अधिकारी ने कहा कि रविवार को सिरसा में तैनात सेना की टुकड़ियों की संख्या 12 हो गई। इससे पहले शनिवार को आठ टुकड़ियां तैनात की गई थीं।

राम रहीम को कोर्ट से भगाने की फिराक में थे उनके सुरक्षाकर्मी?
हरियाणा, पंजाब में मोबाइल इंटरनेट पर मंगलवार तक रोक

अधिकारी ने कहा कि सेना ने सिरसा में फ्लैग मार्च भी किया। सेना ने कहा कि डेरा के प्रभाव वाले इलाके में गश्त की गई और हालात नियंत्रण में हैं। सीबीआई अदालत द्वारा राम रहीम को दोषी करार देने बाद पंचकूला में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। पंचकूला में सेना की 12 टुकड़ियां बनी हुईं हैं।

एके-47, पिस्तौल बरामद, डेरा अनुयायियों पर देशद्रोह का केस दर्ज

इस बीच सेना के सूत्रों ने कहा कि पंजाब के मुक्तसर व मनसा, दोनों जगह पर सेना की दो-दो टुकड़ियां तैनात हैं। यह दोनों डेरा के प्रभाव वाले इलाके हैं। डेरा प्रमुख को रोहतक के पास एक जेल में रखा गया है। वहां भारी सुरक्षा व्यवस्था है।

रोहतक के जेल परिसर में विशेष अदालत बनाई जाएगी, जहां सोमवार को विशेष अदालत दुष्कर्म के दोषी डेरा प्रमुख को सजा सुनाएगी। इसी जेल में डेरा प्रमुख बंद हैं।