हाॅकी में क्रिकेट का गुणगान किया मंत्री ने

minister incharge otaram devasi during inaugration of state lavel hockey tournament
minister incharge otaram devasi during inaugration of state lavel hockey tournament

सबगुरु न्युज-सिरोही। प्रभारी मंत्री व स्थानीय विधायक ओटाराम देवासी अपने जिले प्रति कर्तव्यों में ढिलाई और जानकारियों  के अभाव का एक और सबूत शुक्रवार को अरविंद पेवेलियन में मिला। वह कार्यक्रम कें करीब दो घंटे की देरी से पहुंचे। इसके बाद भी पूरी तरह से तैयार नहंी थे।

वे राज्य स्तरीय हाॅकी टूर्नामेंट का उद्घाटन करने पहुंचे और क्रिकेट को बहुत अच्छा खेल बताते हुए इससे कई खिलाडियों के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलने और देश का नाम अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करने का भाषण देते रहे। इस पाण्डाल में आयोजक व दर्शक हतप्रभ रह गए। खिलाडी तो ऐसे भौंचक्के हुए कि उन्हें यह लगने लगा कि हिंदी की परीक्षा में गणित का पेपर दे दिया हो।

प्रभारी मंत्री के अरविंद पेवेलियन में क्रिकेट की प्रतियोगिता शुरू होने के कन्फयूजन में दिए गए भाषण में खिलाडी इतने कंफयूज हुए कि उन्हें हाॅकी स्टिक की जगह बैट, गोलपोस्ट की जगह विकेट, टर्फ की जगह पिच तथा हाॅकी बाॅल की जगह क्रिकेट की बाॅल दिखने लगी।

इतनी देर में दर्शकों में भी खुसरफुसर शुरू हो गई और मंत्री के भाषण के दौरान ही व्हाटस एप पर भी यह संदेश वायरल होने लगा। इस पर लोगों की चर्चाओं के बीच आयोजन और मंत्री की लाज रखने के लिए वहां खडे पीटीआई जितेन्द्रसिंह ने मंत्री का हाॅकी प्रतियोगिता होने का एक कागज पर लिखकर दिया। यह पढकर प्रभारी मंत्री देवासी भी सकपकाए और पत्रकार दीर्धा की ओर देख पत्रकारों के चेहरे के हाव-भाव देखे। तब जाकर प्रभारी मंत्री ओटाराम देवासी ने पूर्व में दिए गए भाषण में क्रिकेट को हटाकर हाॅकी बोला और सबकी सांस में सांस आई।

4

इधर, प्रभारी मंत्री के देरी पहुंचने से खिलाडियों के अलावा सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए आए छोटे-छोटे बच्चों को भी चिलचिलाती धूप और गर्मी में परेशान होना पडा। संभवतः कार्यक्रम में मंत्री के इंतजार में होने वाली देरी के कारण ही कई अन्य अतिथि नहीं पहुंच पाए।

प्रदेश के 26 जगहों से आई टीमों के खिलाडी, दल प्रमुख, बीकानेर से नियुक्त राज्य के विभिन्न जिलों के साथ सिरोहीवासियों को भी इससे यह तो संदेश मिल गया कि सिरोही से एक मंत्री होने के बाद भी यह जिला इतना बदहाल क्यों है और यह भी राज्य किनके हवाले है।