विशेष योग्य बच्चो की प्रतिभा ने किया चकित

1

सिरोही। जिला मुख्यालय स्थित सर.के.एम. विद्यालय में विश्व विशेष योग्यजन दिवस पर शिक्षा, सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता विभाग तथा स्वयं सेवी विनोद परसरामपुरिया संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय समारोह आज गोपालन एवं देवस्थान राज्य मंत्री ओटाराम देवासी के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। मुख्य समारोह में नन्ने-मुन्हे विशेष योग्यजन बच्चों ने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सभी को दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर कर दिया।

गोपालन एवं देवस्थान राज्य मंत्री ने समारोह में विशेष योग्यजन बच्चों के भविष्य को संवारने, व प्रतिभा को तराशने की आवश्यकता पर जोर देते हुए शिक्षकों, अभिभावकों से कहा कि वे इन्हें मजबूत और स्वाबलम्बी बनाने के लिए सभी प्रकार के आवश्यक प्रयास करें। इसमें सरकार और वे स्वयं भी पूरा-पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने संपन्न व्यक्तियों से भी आगे आने का आव्हान भी किया।  इस अवसर पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत कर उनका उत्साहवर्धन किया। नारायण सेवा संस्थान उदयपुर के सहयोग से इन बच्चों को आवश्यक उपकरण आदि उपलŽध कराने को कहा।

2

सिरोही नगरपरिषद के नवनियुक्त सभापति ताराराम माली ने आयोजित कार्यक्रमों पर खुशी जाहिर की और पुनर्वास केन्द्र माउंट आबू के प्रधानाचार्य विमल ढिंगला के प्रयासों को प्रेरणास्पद बताया और सहयोग के लिए भी आश्वस्त किया।  अध्यक्षता करते हुए लुम्बाराम चौधरी ने विशेष योग्यजन बच्चों के कल्याण के लिए चलाई जा रही सरकार की योजनाओं से लाभांन्वित करने हेतु ग्रामीण स्तर पर सर्वेक्षण कराने एवं शिविर लगाने को कहा। उपखंड अधिकारी ओम प्रकाश विश्नोई ने विशेष योग्यजन बच्चों में एकाग्रचित्तता के गुण की तारीफ की और इस गुण का लाभ लेकर अपने जीवन भविष्य को संवारने और योग्य बनाने हेतु आगे बढऩे का संदेश दिया।

सर्वशिक्षा अभियान के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक कांतिलाल खत्री ने विश्व विकलांग दिवस के महत्त्व और उद्देश्य को स्पष्ट करते हुए बताया कि इन्हें मुख्य धारा से जोडऩे के लिए इस वर्ष 28 लाख रूपये के उपकरण आदि सहायता उपलŽध कराई जायेगी। जनवरी माह में ट्राई साईकिल वितरित होंगी। समारोह में दृष्टिहीन बालक रिंकु, भरत कुमार, सुरेश तथा प्रभुराम, वचनाराम व जवानाराम ने विभिन्न जानवरों की बोलियां एकल गायान, भजन सुनाकर सभी को अचम्भित कर दिया। किशोरी बालिका उर्मिला ने मनोहारी राजस्थानी एकल नृत्य प्रस्तुत कर समारोह को मनोहारी बनाया। जिला शिक्षाधिकारी सैयद अली सैयद, डॉ. जी.आर.दहिया, हेमलता पुरोहित, भवानी सिंह सिंदल, बाबूलाल सगरवंशी सहित अभिभावकों ने भाग लिया। देवस्थान राज्यमंत्री ने प्रदर्शनी का उद्घाटन कर अवलोकन किया।