जोधपुर में बंद करा रहे शिवसैनिकों पर पुलिस लाठीवार

lathicharge on shiv sena activist in jodhpur

lathicharge on shiv sena activist in jodhpur

जोधपुर। जोधपुर में कांग्रेस पार्षद के महिलाओं को अश्लील इशारे करने का मामला गरमाया हुआ है। आरोपी पार्षद शहाबुद्दीन की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जोधपुर बंद करा रहे शिवसैनिकों पर पुलिस ने लाठीवार किया। शिवसेना के जिला प्रमुख समेत कई लोगों को हिरासत में लिया गया है।

आज रविवार होने से ज्यादातर बाजार खुले ही नहीं थे, लेकिन जहां कुछ दुकानें खुलीं थी, उन्हें शिवसैनिकों ने बंद करा दिया। कई जगह शिवसैनिकों ने दुकानदारों को हड़काते हुए खुद ही दुकानों के शटर गिरा दिए। इस दौरान कई जगह शिवसैनिकों और पुलिस की झड़प हुई। सरदारपुरा सी रोड पर डीसीपी ईस्ट राहुल जैन ने पुलिस के साथ शिवसैनिकों घेर कर रोक दिया था और उनके दो वाहन जब्त कर लिए थे।

घंटाघर इलाके में भी पुलिस के साथ शिवसैनिकों की तनातनी हुई। इसके बाद जालोरी गेट पर भी पुलिस ने शिवसैनिकों को खदेड़ा। आखिर शिवसैनिक जब नई सड़क चौराहे पर नारेबाजी करते हुए जुलूस के रूप में जा रहे थे तो पुलिस ने उनको रोक कर लाठीवार किया। पुलिस ने शिवसेना के जिला प्रमुख सम्पत पूनिया समेत कई लोगों को हिरासत में ले लिया। पुलिस का कहना है कि शिवसेना ने इस तरह जुलूस निकालने की कोई अनुमति नहीं ली थी।

गौरतलब है कि 25 दिसम्बर को नगर निगम चुनाव की मतगणना के बाद वार्ड संख्या 16 के कांग्रेस प्रत्याशी व निवर्तमान पार्षद शहाबुद्दीन ने प्रशासन की रोक के बावजूद विजय जुलूस निकाला। वे मात्र १७० वोट से जीते। शहाबु्द्दीन विजय जुलूस लेकर हारे हुए बीजेपी उम्मीदवार महेश भट्टड़ के घर के सामने पहुंच गए। आरोप है कि वहां काग्रेस प्रत्याशी शहाबुद्दीन व उनके समर्थकों ने महिलाओं को अश्लील इशारे किए और फब्तियां कसीं।

इससे लोगों में आक्रोश फैल गया। उन्होंने दो दिन तक खांडाफलसा थाने का घेराव किया और आरोपियों की गिफ्तारी की मांग की। शहाबु्द्दीन और उनसे समर्थकों पर लज्जा भंग समेत अन्य धाराओं में मामला भी दर्ज कराया गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी कांग्रेस प्रत्याशी के दो भाइयों समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन शहाबुद्दीन अभी तक पुलिस की पकड़ से बाहर है।