मुंबई अग्निकांड : प्राथमिकी दर्ज, लुकआउट नोटिस जारी

Mumbai fire : Over 300 illegal structures demolished, FIRs lodged, lookout notices issued
Mumbai fire : Over 300 illegal structures demolished, FIRs lodged, lookout notices issued

मुंबई। मुंबई पुलिस ने शनिवार को विभिन्न पब मालिकों के खिलाफ तीन नई प्राथमिकियां दर्ज की और कमला मिल्स परिसर के पब हादसा मामले में फरार लोगों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया। इस अग्निकांड में 14 लोगों की मौत हो गई थी और 55 अन्य घायल हो गए थे।

पुलिस ने 1एबभ पब के मालिकों हितेश संघवी, उसके भाई जिगर संघवी, साझेदार अभिजीत मनका और युग पाठक के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी का बेटा युग पाठक द मोजोस बिस्ट्रो का सह मालिक है।

महाराष्ट्र क्षेत्रीय नगर नियोजन अधिनियम(एमआरटीपी) के अंतर्गत बृहन्मुंबई नगर निगम(बीएमसी) की शिकायत के आधार पर, पुलिस ने कमला मिल्स के मालिक रमेश गोवानी और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जो अभी पकड़ से दूर हैं।

इस मामले में शनिवार को पुलिस ने कई जगहों पर कार्रवाई की। बीएमसी तोड़ू दस्तों ने यहां के कई होटलों, रेस्त्रां, पबों, भोजनालयों व अन्य जगहों पर अवैध निर्माणों को ढहाने का काम किया।

कमला मिल्स कम्पाउंड और पास के रघुवंशी मिल्स व फोनिक्स मिल्स परिसर के साथ शहर के अन्य जगहों में काफी संख्या में अवैध निर्माणों पर कार्रवाई की गई।

नाम न बताने की शर्त पर बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार को पूरे मुंबई में 200 जगहों पर कार्रवाई की गई, जिनमें बड़ी संख्या में लोअर परेल-महालक्ष्मी क्षेत्र में कार्रवाई हुई।

बीएमसी आयुक्त अजय मेहता ने लोअर परेल के आस-पास के इलाकों में कमला मिल्स परिसर व अन्य जगहों पर सभी होटलों, रेस्त्रां, बार, पबों, मॉलों की सुरक्षा जांच के लिए 25 टीमें पहले ही गठित कर दी थी।

शुक्रवार के अग्निकांड से लोगों में काफी गुस्सा है और यह मामला लोकसभा में भी उठाया गया। बीएमसी ने अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी समेत पांच अधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरूपम ने शनिवार को हालांकि अवैध निर्माण पर कार्रवाई को लोगों के गुस्से को देखते हुए आंखों में धूल झोंकने वाली कार्रवाई बताया। उन्होंने इस मामले में बीएमसी आयुक्त के इस्तीफे की मांग की।

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील ने इस घटना के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) से जांच की मांग की।