महाराष्ट्र में दें पूर्ण बहुमत, सपने करेंगे साकार

pm modi
pm modi offers sops to mumbai, says give us complete majority in maharashtra

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मुंबई की भूमि से आजादी की लड़ाई के समय संपूर्ण आजादी का मंत्र गूंजा था और आज हम एक बार फिर आप से पूर्ण बहुमत देने की मांग करते हैं। मोदी ने गुरूवार को एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि महाराष्ट्र की जनता के चेहरे पर हमें महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ साफ आक्रोश दिख रहा है और इस चुनाव में कोई भी चाचा भतीजे जीत नहीं पाएंगे।…

उन्होंने कहा कि हर सितम का अंत होता है और महाराष्ट्र की जनता राज्य सरकार के सितम को अब और बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य की जनता अब दोबारा इनके झांसे में आने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर झगड़ा चल रहा है कि वह हमारे थे या तुम्हारे थे लेकिन मैं क हता हूं कि शिवाजी युग पुरूष थे, वह सभी के हैं और हर युग में रहेंगे।

मोदी ने कहा कि शरद पवार आज छत्रपति के प्रति श्रद्धा की बात करते हैं तो जब वह यहां के मुख्यमंत्री जब थे तब उन्होंने उनकी मूर्ति क्यों नहीं बनवाई। चुनाव आया तो उन्हें शिवाजी याद आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पवार देश को संविधान देने वाले बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर का सम्मान नहीं कर पाए और उनका स्मारक बनाने के लिए काफी लंबे समय से संघर्ष चलने के बावजूद कोई कदम नहीं उठाया गया। उन्होंने कहा कि मैं राज्य की जनता से वादा करता हूं कि यदि 15 अक्तूबर को चुनाव के दिन आपने भाजपा को पूर्ण बहुमत से जिताया तो हम आपके सपनों को पूरा करेंगे।

मोदी ने कहा कि देश की राजनीति बहुत तेजी से बदल रही है और एक नए युग में प्रवेश कर रही है। नई राजनीति को पुराने मापदंड पर नहीं तोला जा सकता। राजनीति के पुराने समीकरण टूट रहे हैं अब वोट बैंक की नहीं विकास की बात होगी। उन्होंने कहा कि देश का युवा वर्ग आधुनिक भारत देखना चाहता हैऔर आधुनिक भारत का सपना मुंबई और महाराष्ट्र के विकास के बगैर अधूरा है। लेकिन देश का युवा वर्ग देश के विकास को देखने के लिए बहुत समय गंवाना नहीं चाहता।

उन्होंने सवाल उठाया कि भारत अपने पुरूषार्थ से आर्थिक शक्ति क्यों नहीं बना सका। हमारे हर युवा को काम क्यों नहीं मिल सका। लेकिन मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि यदि देश के हर युवा के हाथ में हुनर हो तो भारत दुनिया में अपनी जगह बना लेगा। उन्होंने कहा कि यदि महाराष्ट्र के लोगों को अवसर मिले तो उनमें राज्य को तेजी से आगे ले जाने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र जितना तेजी से विकास करेगा देश भी उतनी ही तेजी से विकसित होगा।

मोदी ने कहा कि मुंबई को सबसे आधुनिक मेट्रो रेल दी जाएगी तथा इसे एक आधुनिक शहर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने 15 साल का समय ऎसे लोगों के हाथ में सौंपा था जो राज्य का विकास करने की बजाय अपनी जेब भरने में लगे रहे और ओछी राजनीति की हद पर कर गए। भ्रष्टाचार में एक दूसरे को पीछे छोड़ते रहे। उन्होंने जनता का आह्वान करते हुए कहा कि 15 साल के कुशासन के बाद 15 अक्तूबर को इनके पापो ंको धोने का पुण्य अवसर आप सबको मिलने वाला है। उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण ने एक उंगली से आसुरी विचार रखने वालों को सुदर्शन चक्र से विनाश कर दिया था और अब 21वी सदी में 15 अक्तूबर को ऎसे आसुरी विचार वालों को साफ करने का अवसर मिलने वाला है आप एक उंगली से कमल पर बटन दबाइए आसुरी विचारो का समापन कीजिए।

मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता एक बार हमें पूर्ण बहुमत से जिताए और हमें सेवा करने का अवसर दे। यदि आप एक पार्टी को नहीं जिताएंगे तो पूर्व की क ांग्रेस और राष्ट्रवादी सरकार एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करते रहेंगे लेकिन आपको कोई जवाब देने वाला नहीं होगा। यदि आप एक पार्टी को पूर्ण बहुमत देंगे तो उसे आपके प्रति जवाबदेह होना पडेगा और वह पार्टी कोई आनाकानी नहीं कर सकेगी। उन्होंने कहा कि मुंबई की पहचान देश की आर्थिक राजधानी के रूप में होती थी लेकिन इसे विश्व की आर्थिक शक्ति क्यों नहीं बनाया गया। उन्होंने कहा कि इसके लिए इच्छा शक्ति चाहिए, कुछ कर गुजरने की मंशा चाहिए।
मोदी ने कहा कि मुंबई को लघु भारत कहा जाता है क्योकि पूरे देश के लोग यहां रहते हैं और रोजी रोटी के लिए गांव छोड़कर आते हैं। यदि लोगों के हाथों में हुनर हो तो हर व्यक्ति देश को भाग्य विधाता बनाने में अपना योगदान दे सकता है। उन्होंने कहा कि मेरा सपना, सपना नही संकल्प होता है और यदि एक बार मैं किसी बात का संकल्प कर लेता हूं तो उसे सिद्ध करने के बाद ही बैठता हूं। मेरा सपना है 500 शहरों को आधुनिक ऊंचाइयों पर ले जाने का और इस संकल्प को सरकार और निजी क्षेत्र की भागीदारी से पूरा किया जाएगा। हम ऎसा शहर चाहते हैं जिसमें कूडा कचरा नहीं दिखे।

उन्होंने कहा कि इस कूडे कचरे से भी हम सोना पैदा कर सकते हैं कूडे से प्राकृतिक खाद, कोयला, बिजली आदि बना सकते हैं। यदि कचरे से खाद बनाई जाए तो हमें सब्सिडी नहीं देनी होगी और उस धन का कहीं और उपयोग किया जा सकेगा। गंदे पानी को साफ कर शहर के समीप के गांवों को खेती के लिए दिया जा सकता है। बड़े शहरों के समीप रहने वाले गांव बड़ी मात्रा में सब्जी की खेती करते हैं और यदि उन्हें पानी मिल जाए तो उनकी आय बढ़ सकती है।