टूटे स्प्रिंग कवर पर 60 किमी तक दौड़ीं दो ट्रेनें, बड़ा हादसा टला

मुजफ्फरपुर। रेल विभाग की लापरवाही थमने का नाम नहीं ले रही है। गुवाहाटी से लालगढ़ जाने वाली अवध असम एक्सप्रेस टूटे हसपट स्प्रिंग कवर पर समस्तीपुर से मुजफ्फरपुर के बीच 60 किमी तक दौड़ी और सहरसा से आनंद विहार जाने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस के जी 4 का भी स्प्रिंग कवर टूट गया।

तेज आवाज के साथ दोनों ट्रेनों ने करीब 60 किमी का सफर तय किया।रास्ते में किसी अनहोनी की आशंका से यात्रियों की सांसें अटकी रहीं। दोनों ट्रेनें जब प्लेटफॉर्म पर पहुंचीं तो जांच के दौरान असलियत पता चलने पर अधिकारियों में खलबली मच गई।

जानकारी के अनुसार समस्तीपुर जंक्शन पर आने से पहले ही अवध असम की पेंट्रीकार का हसपट स्पिंग कवर टूटकर लटक गया। स्प्रिंग से टकराने पर तेज आवाज आने लगी। वेंडरों व यात्रियों ने टीटीई से शिकायत की। इसकी सूचना कंट्रोल को दी गई लेकिन समस्तीपुर में मरम्मत नहीं की गई।

समस्तीपुर से मुजफ्फरपुर के बीच घर्षण के कारण तेज आवाज के साथ ट्रेन दौड़ती रही। वेंडरों ने पेंट्रीकार में आना छोड़ दिया। बगल की स्लीपर बोगी के कई यात्री दूसरी बोगी में चले गए। सुबह 8.45 बजे एक दिन बाद 30 घंटे विलंब से मुजफ्फरपुर जंक्शन पर अवध असम एक्सप्रेस पहुंची।

सूचना मिलने पर कोचिंग डिपो के सीडीओ कृष्ण मोहन वर्मा के नेतृत्व में कर्मियों ने स्टेशन पर ट्रेन की जांच की। हसपट स्प्रिंग कवर टूटा मिला। इसकी मरम्मत की गई। ट्रेन 20 मिनट तक रुकी।

दूसरी घटना में सहरसा से आनंद विहार जाने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस के जी 4 का स्प्रिंग कवर टूट गया। तेज आवाज निकलने के कारण यात्री दहशत में रहे। समस्तीपुर से मुजफ्फरपुर के लिए ट्रेन के खुलने के कुछ देर बाद ही तेज आवाज आने लगी। सोमवार देर रात 12.30 बजे जंक्शन पर ट्रेन आई।

सूचना मिलने पर कोचिंग डिपो कर्मियों ने जांच की। स्प्रिंग कवर टूटा था। इसे ठीक किया गया। आधे घंटे तक ट्रेन रुकी रही। इस मामले में मुजफ्फरपुर स्टेशन पर तैनात अधिकारियों का कहना है कि सूचना मिलने पर प्लेटफॉर्म पर दोनों ट्रेनों के स्प्रिंग कवर को ठीक कर रवाना किया गया।